महिला ने अपने 15 दिन के बेटे को 42 हजार रुपए में बेच दिया, ये थी वजह

महिला ने अपने 15 दिन के बेटे को 42 हजार रुपए में बेच दिया, ये थी वजहसाभार: इंटरनेट।

एक महिला ने अपने 15 दिन के बेटे को 42 हजार रुपए में बेच दिया था। मामला मीडिया में आने के बाद प्रशासन हरकत में आया और बच्चे को बरामद कर उसे मॉ को सौंप दिया। जानकारी के मुताबिक एसडीएम नवाबगंज कुंवर पंकज ने पहले कोटेदार को राशन देने के निर्देश दिए। सुबह 6 बजे हरस्वरूप की पत्नी संजू को लेकर बहेड़ी के गांव बसंत नगर निवासी जीवन लाल के घर पहुंचे और उससे नवजात बच्चे को उसकी मां संजू को दिलाया। इसके साथ ही बैंक ऑफ बड़ौदा की रिठौरा शाखा में उसका एकांउट भी खुलवा दिया।

ये था मामला

जानकारी के मुताबिक हाफिजगंज के गाँव ढकिया निवासी हरस्वरूप मौर्य मजदूरी करके घर का पालन- पोषण करता है। हरस्वरूप ने बताया उत्तराखंड के खटीमा में मजदूरी के दौरान दीवार ढहने से उसके दोनों पैर खराब हो गए। पैसे न होने के कारण वो इलाज नहीं करा पाया। इस वजह से वो कहीं और नौकरी नहीं कर पाया।

ये भी पढ़ें- इस मां और बच्चे के गुनहगार हैं हम, 12 साल की बलात्कार पीड़िता ने दिया बच्चे को जन्म

पेट पालने के लिये हरस्वरूप ने लोगों से पैसे उधार लिये। इसी दौरान उसकी पत्नी मंजू ने तीसरे बेटे को जन्म दिया। महिला को किसी से भी मदद की उम्मीद नहीं थी। पति का इलाज करवाना भी जरूरी था इसलिये महिला ने अपने बेटे को 42 हजार रुपए में बेच दिया।

ये भी पढ़ें- गर्भावस्था में फॉलिक एसिड का ज्यादा सेवन बच्चे में एलर्जी बढ़ा सकता है

डीएम ने जांच का दिया आदेश

सूत्रों के मुताबिक डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह ने नवाबगंज एसडीएम से पूरे मामले की रिपोर्ट मंगलवार तक देने को कहा है। वहीं, बहेड़ी के एसडीएम व सीओ को बच्चा लेने वाले व्यक्ति की जानकारी कर बच्चे को बरामद करने और उसे हरस्वरूप के परिवार को सौंपने के निर्देश दिए।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

संबंधित खबरें-- Youtube से 6 साल के बच्चे ने साल भर में कमाए 70 करोड़ रुपए

अस्पताल की लापरवाही, जीवित बच्चे को बताया मृत, स्वास्थ्य मंत्री ने दिया जांच के आदेश

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top