टॉयलेट एक प्रेम कथा: अक्षय की फिल्म का ट्रेलर तो आपने देख लिया, शौचालय पर पूरी फिल्म हम आपको दिखाते हैं 

टॉयलेट एक प्रेम कथा: अक्षय की फिल्म का ट्रेलर तो आपने देख लिया,  शौचालय पर पूरी फिल्म हम आपको दिखाते हैं गांव कनेक्शन इस मुद्दे पर लगातार गाउंड रिपोर्टिंग करता रहा है। (फोटो कलात्मक )

लखनऊ। एक प्यार जो बदल गया क्रांति में... इस टैगलाइन के साथ अक्षय कुमार की अगली फिल्म ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ का ट्रेलर लॉन्च हो चुका है। फिल्म मेनस्ट्रीम सिनेमा की ही है लेकिन इसका टॉपिक बिल्कुल हटके है।

अक्षय इस बार अपनी फिल्म में स्वच्छ भारत अभियान को प्रमोट कर रहे हैं। फिल्म के जरिए अक्षय कुमार और निर्देशक श्री नारायण सिंह ने एक बहुत जरूरी मुद्दा उठाया है जो काफी समय से महिलाओं के लिए खासकर ग्रामीण महिलाओं के लिए दर्द बना हुआ है। लेकिन ये मुद्दा कितना अहम है, ये गांव की महिलाओं से बात कर उनके दर्द का अंदाजा लगाकर समझा जा सकता है। सरकार अपने पैसे से अब तक करोड़ों घरों में शौचालय बनवा चुकी है लेकिन करोड़ों लोग अभी भी खुले में शौच को मजबूर हैं। जिससे सबसे ज्यादा परेशानी महिलाओं को होती है। शर्म और शंकोच उन्हें कई तरह की बीमारियां दे रहा है।

गांव कनेक्शन ने इस मुहिम में कुछ समय पहले एक डॉक्यूमेंट्री शूट की थी जिसमें दिखाया गया है कि एक गांव में शौचालय न होने से महिलाओं की जिंदगी कितनी पीड़ित और दर्दनाक है।

अब वीडियो में देखिए भारत में शौचालय की समस्या की असली तस्वीर...

ये भी पढ़ें: अभिनेता अक्षय की मांग, ‘हर 500 मीटर या एक किलोमीटर’ पर हो सचल शौचालय

फिल्म के ट्रेलर में भी शादी के अगले दिन जब नई नवेली दुल्हन (भूमि पेडनेकर) से सुबह तड़के चार बजे शौच के लिए जाने को कहा जाता है तो उनके चेहरे की शिकन में हमें महिलाओं की बेबसी दिखाई देती है।

ये भी पढ़ें: शौचालय बनाने के लिए उपवास पर बैठी

24 घंटे में फिल्म के ट्रेलर का व्यू आठ करोड़ चौवन लाख के करीब पहुंच चुका है।

बताया जा रहा है कि फिल्म प्रियंका भारती के ऊपर बेस्ड हैं। यूपी के महाराजगंज जिले के कुइयां कंचनपुर गांव की प्रियंका ने शादी के अगले दिन अपना ससुराल इसलिए छोड़ दिया क्योंकि वहां टॉयलेट नहीं था।

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में हर महीने बनाए जाएंगे 8.5 लाख शौचालय

एक अखबार को दिए इंटरव्यू में प्रियंका ने बताया कि शादी के अगले दिन जब मेरी सास पेशाब के लिए खेतों में लेकर गई मेरे एक हाथ में लोटा था और एक हाथ से मैं घूंघट संभाल रही थी। सारे लोग मुझे देख रहे थे और मुझे बहुत शर्म आ रही थी।

ये भी पढ़ें: कर्नाटक की एक ग्राम पंचायत ने किया कमाल, एक ही दिन में बनाए 115 शौचालय

आखिर प्रियंका की जिद्द से उनके ससुराल में भी शौचालय बनाया गया। इधर अक्षय उनके लिए पूरे गांव में क्रांति शुरू कर देते हैं। फिल्म के सपोर्टिंग कास्ट के रूप में दिव्येंद्रू, सुधीर पांडेय और अनुपम खेर हैं।

Share it
Share it
Share it
Top