छत्तीसगढ़: अपने गाँव को कोरोना से बचाने के लिए युवा ने निकाली तरकीब

Tameshwar SinhaTameshwar Sinha   6 May 2020 3:26 AM GMT

भिलाई (छत्तीसगढ़)।कोरोनावायरस के खतरे के बीच एक किसान ने अपने गांव को सुरक्षित रखने की सोची। शहरों में नगर निगम सैनिटाइजेशन का काम कर रहा है। मगर, बहुत से गांवों में यह सुविधा नहीं पहुंच रही। इसी जरूरत को देखते हुए ओमप्रकाश ने सेनिटाइजर बना दिया।

छत्तीसगढ़ के भिलाई जिले के पाटन के गाँव के ओसगा गाँव के रहने वाले ओमप्रकाश गोयल सिर्फ दसवीं तक पढ़ें हैं, लेकिन कुछ अलग करने की जिद से उन्होंने बाइक को सेनिटाइजेशन मशीन में बदल दिया है। उनकी ये बाइक गाँव की संकरी गलियों को भी सेनिटाइज कर देती है।

ओमप्रकाश बताते हैं, "अभी तो कोरोना वायरस का संक्रमण चल रहा है, उससे बचने के लिए मैंने सोचा कि कुछ नया करता हूं। अपने आस-पास मिलने वाली चीजों से ये सेनिटाइजर बनाया है। इसमें मैंने कपूर, नीम और तुलसी की पत्ती से बनाया है। सेनिटाइजर तो बना लिया अब लगा इसे एक छोटे से स्प्रे से तो पूरे गाँव को सेनिटाइज नहीं कर सकता। तब मैंने मैंने ये बाइक तैयार करने की सोची। इसे मैंने एक हफ्ते में तैयार कर लिया था।"

बाइक के स्टार्ट होकर चलने की वजह से सैनिटाइजेशन उपकरण अपना काम करता है और स्प्रेयर से सेनिटाइजर बाहर निकलता है। ओमप्रकाश ने खेत में कीटनाशक छिड़काव करने वाले यंत्र को इससे जोड़ा है। चक्कों को इस यंत्र के हैंडल से ऐसे बांधा है कि जब पहिए घुमते हैं तो स्प्रेयर का बटन दबता है और सैनिटाइजेशन का काम होता है। आस-पास के गांवों से भी ओमप्रकाश को सैनिटाइजेशन के लिए बुलाया जाता है।

ये भी पढ़ें: वैज्ञानिकों का दावा, कोरोना को फैलने से रोकने के लिए मिस्ट सैनिटाइजर टनल का उपयोग है सुरक्षित



Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.