शहर के लोगों को ये पता तो हो कि अन्न पैदा कैसे होता है: पंकज त्रिपाठी

"मेरी बेटी मुंबई में रहती है, लेकिन मैं चाहता हूं कि वो अपने गांव के बारे में भी जाने, उसे महसूस करे, इसलिए हम गांव जाते हैं। आखिर शहर में रहने वाले बच्चों को भी तो पता होना चाहिए कि जो अन्न हम खाते हैं वो आता कहां से है। जब भारत का हर आदमी जान जाएगा कि अन्न पैदा करने में कितनी मेहनत लगती है तो वो अन्न बर्बाद नहीं करेगा।" स्लो इंटरव्यू विथ नीलेश मिसरा में पंकज त्रिपाठी कहते हैं।

गैंग्स ऑफ वासेपुर, स्त्री, न्यूटन, बरेली की बर्फी, मसान जैसी सुपरहिट फिल्म और हालिया रिलीज वेब सीरीज मिर्जापुर में शानदार एक्टिंग की छाप छोड़ने वाले पंकज त्रिपाठी आज किसी पहचान के मुहताज नहीं हैं। हाल ही में जब वे लखनऊ आये तो लखनऊ से लगभग 60 किमी दूर गांव कुनौरा में देश के सबसे चहेते स्टोरीटेलर नीलेश मिसरा से उन्होंने लंबी बातचीत की। इस लंबी बातचीत के कुछ अंश आप देख चुके हैं, फिर फिर पहला भाग रिलीज हुआ।

नीलेश मिसरा के साथ पंकज त्रिपाठी के स्लो इंटरव्यू का यह दूसरा और आखिरी भाग है। अगर आपने पहला भाग नहीं देखा हो तो यहां देखें-


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top