किसान आंदोलन के 100 दिन: लंबी लड़ाई को तैयार किसान, आखिर कैसे टूटेगा गतिरोध

गांव कनेक्शन कृषि अध्यादेश आने के बाद से से लगातार इस मुद्दे के हर पहलू पर खबर कर रहा है। किसान आंदोलन की शुरुआत से गांव कनेक्शन के रिपोर्टर लगातार ग्राउंड रिपोर्ट कर रहे हैं। आज दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन के 100 दिन पूरे होने गांव कैफे में चर्चा हो रही है।

Arvind ShuklaArvind Shukla   6 March 2021 10:44 AM GMT

कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के आंदोलन के 100 दिन हो गए हैं। किसान 26 नवंबर 2020 से सिंघु, टिकरी, गाजीपुर, शाहजाहंपुर बॉर्डर पर डेरा डाले हुए हैं। किसानों के आंदोलन के दुनियाभर में चर्चा बटोरी है। 250 से ज्यादा किसानों की इस दौरान जान जा चुकी है। सरकार के 11वें दौर की वार्ता के बाद गतिरोध बरकरार है। सरकार संसोधन और कानून स्थगित करने की बात पर अड़ी है तो किसान कृषि कानूनों की वापसी पर अड़े हैं। सर्दी, बरसात झेल चुके किसान अब गर्मियां झेलने को तैयार हैं, किसानों को कहना है ये लड़ाई लंबी चलेगी और वो तैयार है.. गांव कनेक्शन कृषि अध्यादेश आने के बाद से से लगातार इस मुद्दे के हर पहलू पर खबर कर रहा है। किसान आंदोलन की शुरुआत से गांव कनेक्शन के रिपोर्टर लगातार ग्राउंड रिपोर्ट कर रहे हैं। आज दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन के 100 दिन पूरे होने गांव कैफे में चर्चा हो रही है।

ये भी पढ़ें: किसान आंदोलन के 100 दिन: गर्मी से निपटने के लिए ट्रालियां बनीं झोपड़ी, खुद की कराई बोरिंग, कचरा ग्राउंड पर बनी किसान हवेली

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.