जंगली सुअर बढ़ा रहे हैं किसानों की तकलीफ, पूरी फसल को जड़ से कर रहे बर्बाद

रामजी मिश्रा, कम्‍युनिटी जर्नलिस्‍ट

शाहजहांपुर (यूपी)। यूपी के शाहजहांपुर में किसान जंगली सुअर से परेशान हो गए हैं। अपनी फसल को बचाने के लिए किसान दिन रात खेतों की निगरानी कर रहें हैं, तमाम उपकरण लगाने के बाद भी लोग जंगली सुअरो को रोक नहीं पा रहे हैं। किसानों के अनुसार ये सुअर पूरी फसल को जड़ से समाप्‍त कर दे रहे हैं।

यह मामला उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से लगभग 200 किलोमीटर दूर शाहजहांपुर जिले में पड़ने वाले कटरा और खुदागंज ब्लॉक के आसपास के इलाकों की है। कटरा के किसान विश्वनाथ त्रिपाठी बताते हैं कि जंगली सुअर अब खेतों में ही रहते हैं, और इनकी संख्‍या भी बहुत अधिक है। वह बताते हैं कि ये जानवर पूरी की पूरी फसल बर्बाद कर दे रहे हैं। इनके डर से किसानों ने गन्ना बोना बंद कर दिया है।

खुदागंज में पड़ने वाले गांव कसरक के सुखबीर बताते हैं कि हमारे यहां गन्ना बहुत बोया जाता है लेकिन उसे बचाने के लिए खेत में ही रहना पड़ता है। कसरक गांव शाहजहांपुर से 40 किलोमीटर दूर है।

इसे भी पढ़ें- फसल सुरक्षा के लिए अपनाएं ये उपाय, कम खर्च में मिलेगा अधिक उत्पादन

कटरा के फईम अली बताते हैं कि सुअर फसल को हौल (खोदना) देते हैं। वहीं सुल्तान बेग बताते हैं कि सुअर धान जैसी फसलों को भी खोद देते हैं। कटरा के साल पुर गांव के धनपाल बताते हैं सुअर दो तीन फुट गड्ढा खोदकर गन्ने की जड़ निकाल देते हैं। कुसक गांव के नन्हे सिंह ने भी बताया कि गाय से फसल नष्ट नहीं होती, लेकिन सुअर फसल को जड़ से खोद देते हैं।

इसी गांव के सत्यवीर सिंह बताते हैं कि जानवरों के फसल खाने पर कोई नुकसान नहीं है, लेकिन उसे जड़ से नष्ट करने पर नुकसान है। इसलिए इन्‍हें बचाने के लिए रातदिन खेत में ही रहना पड़ता है। वहीं महिला किसान रचना अपने खेत में चारपाई डाल ली हैं उनका कहना कि इन जानवरों से खेत को बचाने के लिए तपस्‍या करनी पड़ती है।

यहीं के द्वारका प्रसाद बताते हैं कि सुअर पेड़ों को जड़ से उखाड़ कर फेंक देते हैं। किसान जय वीर सिंह खेत में ही रहने लगे हैं, जयवीर बताते हैं कि वह खेत में रहते हैं, यहीं खाना भी बनाते और खाते हैं। उन्होंने खेत में टीन का डिब्बा और उसमें एक रस्सी रात को आवाज करने के लिए बांध रखी है, उनके अनुसार इसे बजाने पर जानवर भाग जाते हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top