गंजेपन और चेहरे के दाग धब्बों से छुटकारा दिलाएंगी बरगद की जड़ें : हर्बल आचार्य

बरगद एक विशालकाय वृक्ष होता है जो आमतौर पर गांव देहातों, सड़कों के किनारे और उद्यानों में देखा जा सकता है। इसकी बड़ी-बड़ी शाखाओं से निकली, हवा में लटकती- तैरती जटाएं दूर से देखने पर काफी मनमोहक दिखाई देती हैं। आमतौर पर जड़ों का कार्य जल का अवशोषण होता है लेकिन बरगद में जड़ें रूपांतरित होकर भारी भरकम शाखाओं के लिए सपोर्ट सिस्टम बनने का कार्य करती हैं। बरगद की बड़ी-बड़ी भारी भरकम शाखाओं के वजन को सहने के लिए जटाएं तने से निकल आती हैं जो हवा से होते हुए जमीन तक पहुंचती है और बरकत को साधने करने का कार्य करती हैं।

बरगद की शाखाएं और पूरे वृक्ष की संरचना एक परिवार की तरह ही होती है जिसमें बड़ी-बड़ी शाखाओं और पूरे वृक्ष को सहायता देने के लिए जड़ें हमेशा तत्पर रहती हैं। बरगद को तटस्थ बने रहने का और प्रकृति से निरंतर समन्वय बनाए रखने का एक बेहतरीन उदाहरण माना जाता है।

बरगद की हवाई जड़ों के कई औषधीय गुण भी होते हैं। हवाई जड़ों के निचले सिरे (10 से 12) के बारीक बारीक टुकड़े काट लिया जाए और इसमें आधा चम्मच हल्दी मिलाकर एक पेस्ट तैयार किया जाए। इस पेस्ट को कील मुहांसों की वजह से त्वचा पर बन आए दाग धब्बों आदि के ऊपर लगाने से फायदा मिलता है।

करीब एक मुट्ठी मात्रा में बरगद की नई कोमल जड़ों को काट कर पानी में उबाल लें। इस पानी से सिर में मसाज करने से पुरुषों में गंजेपन की समस्या, जिसे 'मेल पेटर्न बाल्डनेस' कहते हैं, बहुत लाभ होता है।

बरगद के हवाई जड़ों के इस तरह के उपयोग के बारे में आपने शायद पहले नहीं सुना होगा। इसी तरह की नायाब जानकारियों को देखने और सुनने के लिए हमारे शो "हर्बल आचार्य" को देखते रहें और गांव कनेक्शन चैनल को सब्सक्राइब भी करें ताकि समय समय पर आपको नोटिफिकेशंस मिलती रहें।

Share it
Top