Top

गुजरात से वापस आए मजदूर बोले- 'अपने पैसों का टिकट भी लिया और खाने-पीने को भी कुछ नहीं मिला'

Ajay MishraAjay Mishra   7 May 2020 3:05 PM GMT

कन्नौज (उत्तर प्रदेश)। वैश्विक कोरोना वायरस की महामारी को लेकर चल रहे देशव्यापी लॉकडाउन में स्पेशल ट्रेन में बिठाकर 1315 यात्रियों को अहमदाबाद से कन्नौज लाया गया। ज्यादातर यात्रियों ने कहा कि कहा तो गया था कि उनको ट्रेन में खाना और पानी दिया जाएगा, लेकिन कुछ नहीं मिला। ट्रेन का किराया भी दिया, लेकिन खाने-पीने को कुछ नहीं मिला।

गुजरात के अहमदाबाद से एक दिन पहले चलकर साबरमती स्पेशल ट्रेन संख्या 09367/09368 गुरुवार को दोपहर 12.19 बजे उत्तर प्रदेश के कन्नौज रेलवे स्टेशन पर पहुंची। जिससे भी पूछा गया, सभी ने कहा कि वह टिकट खरीदकर यहां आए हैं। एक यात्री तो भड़क गए, बोले सरकार गलत बोल रही है। बिना टिकट लिए कोई भी ट्रेन से नहीं आया है। जब अपने-अपने जिलों की रोडवेज बसों में यात्री बैठे तो उन्होंने ट्रेन की टिकट भी दिखाईं। सरकार के उस बयान पर नाराजगी भी जताई, जिसमें फ्री ले जाने की बात कही गई है।

सिद्धार्थनगर के रहने वाले अनिल कुमार ने बताया, "ट्रेन में न तो भोजन मिला और न ही पानी की व्यवस्था थी। यहां उतरे पर ठेले से केले खरीदे, तब जाकर सुकून मिला।"

जो लोग अहमदाबाद से पानी की बोतलें या थर्मस लाए थे, उनका पानी भी खत्म हो गया। रेलवे स्टेशन के बाहर खड़े नगर पालिका परिषद के टैंकर से पानी पीकर कई जनपदों के लोगों ने अपनी-अपनी प्यास बुझाई।

बच्चा गोद में लिए रायबरेली जाने वाली अंजू ने बताया, "मेरे पति अहमदाबाद में काम करते थे। ट्रेन में कोई सुविधा नहीं मिली है। खाना-पीना कुछ भी नहीं मिला, दिख जाता तो खरीद ही लेते।"

औरैया जाने के लिए बस ढूंढ रहे राममिलन से पूछा कि फ्री आए हैं क्या, तो वह बोले सरकार बकवास कर रही है। पानी तक के लिए बच्चे परेशान हैं। फ्री में कोई सुविधा तक नहीं मिली है।

इन जिलों को भेजे गए लोग

सहारनपुर, सिद्धार्थनगर, फर्रुखाबाद, एटा, कासगंज, बरेली, औरैया, इटावा, जालौन, झांसी, देवरिया, अमेठी, प्रतापगढ़, मऊ, महाराजगंज, बस्ती, संतकबीर नगर, रायबरेली, आजमगढ़, बलिया, लखनऊ, अयोध्या, अंबेडकरनगर, गोंडा, बलरामपुर, गाजीपुर, हरदोई, गोरखपुर, कुशीनगर, बांदा, चंदौली, जौनपुर, कौशाम्बी, हमीरपुर, फतेहपुर, कानपुर, उन्नाव, सुल्तानपुर, मैनपुरी, आगरा, फिरोजाबाद आदि जिलों को 1315 लोगों को भेजा गया।

1315 लोगों की हुई थर्मल स्क्रीनिंग

रेलवे स्टेशन पर अहमदाबाद से आने वाले 1315 लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई है। जिलों की संख्या बढ़ाकर 41 हो गई है। यह भी दावा किया गया है कि जांच में सभी स्वस्थ्य मिले हैं। दूसरी ओर 10 यात्रियों का जांच में तापमान बढ़ा था, उनको प्रतीक्षालय में बिठा दिया गया। दूसरी जांच में रिपोर्ट सामान्य मिलने पर जाने दिया गया। डॉ. वरुण सिंह कटियार ने बताया कि जांच में सब ठीकठाक मिला है।

डॉक्टरों ने मांगा पानी, एसडीएम ने कराई व्यवस्था

ट्रेन आने की बात पर ड्यूटी पर लगाई गए अधिकारी व स्वास्थ्यकर्मी गुरुवार सुबह ही पहुंचने लगे थे। गर्मी व ड्यूटी के बीच पानी की जरूरत हुई तो कुछ लोगों ने एसडीएम सदर शैलेष कुमार से कहा। उन्होंने तत्काल पानी की व्यवस्था कराई। साथ ही स्वास्थ्य महकमे के जिम्मेदारों से कहने के बाद जाली वाली हेडकैप दी गई।

बसों व स्टेशन को किया सेनेटाइज

सुबह से ही रेलवे स्टेशन व रोडवेज बसों को सेनेटाइज करने का काम शुरू हो गया था। डीएम राकेश मिश्र व एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह के अलावा रेलवे विभाग के अधिकारियों ने पहुंचकर डेरा डाल दिया।

दुकान दिखी तो नमकीन, पानी व फल खरीदे

जैसे ही यात्री बाहर आए तो पेट की आग बुझाने के लिए दुकानें देखने लगे। जीटी रोड के किनारे फल की ठेली लगी थी। ज्यादातर लोगों ने केला खरीदकर भूख शांत की। ठेली पर भीड़ लग गई तो पुलिस ने खदेड़ दिया। निकट ही रोडवेज बस स्टाप है, यहां भी बसें खड़ी थीं। उन पर भी यात्री बिठाए जा रहे थे। परिसर में कुछ दुकाने भी हैं। बच्चों ने जिद की तो लोगों ने पानी, कोल्ड ड्रिंक की बोतलें खरीदी। नमकीन व बिस्किट के पैकेट देकर रो रहे बच्चों को शांत किया।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.