The Slow Interview: बातों-बातों में ज़िंदगी की बहुत गहरी तहों में उतरे अनुराग कश्यप

Shabnam KhanShabnam Khan   1 March 2019 6:32 AM GMT

"मैं 30 में जितना समझदार नहीं था, जितनी मेरी बेटी 18 साल में है... उसे पापा की कमज़ोरियां अपने अंदर नहीं चाहिए। उसको 'न' बोलना आता है!" अनुराग कश्यप ने अपनी निजी ज़िंदगी की उन तहों को खोलते हुए कहा, जो वो अमूमन खोलते नहीं है। मशहूर स्टोरीटेलर और लिरिसिस्ट नीलेश मिसरा की इंटरव्यू सीरीज़ 'The Slow Interview with Neelesh Misra' की ताज़ा किस्त सामने आ चुकी है। इस नए एपीसोड में उन्होंने जानेमाने फिल्म डायरेक्टर और प्रॉड्यूसर अनुराग कश्यप का इंटरव्यू किया है।

इस इंटरव्यू की शुरुआत नीलेश मिसरा के एक सवाल "कैसा था आपका बचपन?" से हुई, जिसका जवाब देते-देते अनुराग कश्यप अपनी ज़िंदगी की तहों में बहुत नीचे उतर गए। बहुत सहजता से उन्होंने अपने स्कूल के दिनों के दिनों की ऐसी बातें बताई, जिन्हें सुनकर एक पल को आप चौंक भी सकते हैं। वहीं, इंटरव्यू का वह हिस्सा भी काफी ख़ास रहा जब अनुराग ने फिल्म इंडस्ट्री के अपने स्ट्रगल के बारे में बताया।

इसे भी पढ़ें: विशाल भारद्वाज की ज़िंदगी के ऐसे क़िस्से, जो अब तक आपने नहीं सुने होंगे

सूखी घास के ढेर पर, खुले आसमान के नीचे बैठकर किए गए इस इंटरव्यू में कई ऐसे पल आए जब अनुराग अपने अतीत के बारे में बात करते हुए बेहद संजीदा हो गए। वहीं, कुछ पल ऐसे भी थे कि वो और नीलेश मिसरा मिलकर खूब हंसे। 'द स्लो इंटरव्यू' बहुत कम वक्त में अपना एक नया मुकाम हासिल करने लगा है। दूसरे रैपिडसवाल जवाबों वाले इंटरव्यू शो से अलग इस शो में सेलेब्रिटीज़ बहुत सुकून और फुर्सत के साथ अपने बचपन के क़िस्सों से लेकर भविष्य के लिए अपने सपनों की बातें करते दिखाई देते हैं।

नीलेश मिसरा के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल (Neelesh Misra) पर अब तक इस शो के चार ऐपिसोड रिलीज़ हो चुके हैं, जिनमें अनुराग कश्यप के अलावा, ऐक्टर पंकज त्रिपाठी, फिल्म निर्माता विशाल भारद्वाज, मशहूर फिल्म लेखक सलीम ख़ान के इंटरव्यू हैं। पिछले ऐपीसोड जिसमें सलीम ख़ान थे, वह कुछ ही वक्त में दस लाख व्यूज़ का आंकड़ा पार कर चुका है।

इसे भी पढ़ें: चिड़िया चाहे जितना भी उड़ ले, उसे लौटना तो अपने घोसले में ही है: पंकज त्रिपाठी

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top