The Slow Interview With Neelesh Misra: शोले, दीवार और मिस्टर इंडिया जैसी फ़िल्मों के लेखक सलीम ख़ान से एक ठहरी हुई मुलाक़ात

मशहूर स्टोरीटेलर नीलेश मिसरा की इंटरव्यू सीरीज़ 'द स्लो इंटरव्यू विद नीलेश मिसरा'का तीसरा एपिसोड लॉन्च हो चुका है। इस बार इंटरव्यू में सलीम ख़ान को दिखाया गया, जिन्होंने 70 और 80 के दशक की कई मशहूर फिल्में लिखी हैं। इन फिल्मों में शोले, डॉन, दोस्ताना, त्रिशूल और मिस्टर इंडिया शामिल हैं। इस इंटरव्यू में, सलीम ख़ान ने अपनी ज़िंदगी के तमाम अनछुए पहलुओं पर बात की है। न सिर्फ बॉलीवुड के अपने सफर बल्कि सलमान ख़ान, अरबाज़ ख़ान से जुड़े मज़ेदार क़िस्से भी सुनाएं। इस इंटरव्यू को नीलेश मिसरा के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर देखा जा सकता है।

इंटरव्यू के वे हिस्से भी काफ़ी जानदार हैं, जहां सलीम ख़ान अपने फिल्मी करियर में लेखन से जुड़े किस्से बता रहे हैं। इसी दौरान, उन्होंने जावेद अख़्तर के साथ अपनी 'सलीम-जावेद' के टूटने पर भी खुलकर बात की है। इसके अलावा, इंटरव्यू का एक ख़ास हिस्सा वह भी रहा जब उन्होंने अपने घर से अपने लगाव के बारे में बात की। सलमान ख़ान के कई बार कहने के बावजूद, वे अपना फ्लैट छोड़कर किसी बड़े बंगले में रहने के लिए नहीं गए। सलीम ख़ान ने बताया कि सलमान को घर में काफी जगह नहीं मिलती, फिर भी वह अपने पिता की वजह से वहीं रहना पसंद करते हैं।

आज कल के रैपिड फायर इंटरव्यू से अलग, नीलेश मिसरा के स्लो इंटरव्यू में इससे पहले जाने-माने एक्टर पंकज त्रिपाठी और म्यूज़िक कंपोज़र व फिल्म डायरेक्टर विशाल भारद्वाज भी आ चुके हैं। सलीम ख़ान की ही तरह, बाक़ी के दोनों मेहमानों ने भी अपनी निजी ज़िंदगी से लेकर करियर तक के समाम क़िस्से बयां किए हैं। फिलहाल, सलीम ख़ान का इंटरव्यू करके नीलेश मिसरा ने उस जनरेशन के लिए सलीम ख़ान को जानने की एक नई खिड़की खोली है, जो उन्हें अब तक सिर्फ़ सलमान ख़ान के पिता के तौर पर जानती थी।


इसे भी पढ़ें: The Slow Interview With Neelesh Misra: विशाल भारद्वाज की ज़िंदगी के ऐसे क़िस्से, जो अब तक आपने नहीं सुने होंगे

Share it
Top