फिल्म निर्देशक सुधीर मिश्रा: मैंने पैसे और पावर को बहुत क़रीब से देखा है, लेकिन दोनों हाथ से फिसल गए

Shabnam KhanShabnam Khan   15 March 2019 7:41 AM GMT

"मुझे इर्ष्या ऐसी होती है, जो अच्छा काम करने के लिए उकसाती है" फिल्म डायरेक्टर सुधीर मिश्रा

'द स्लो इंटरव्यू विद नीलेश मिसरा' का नया ऐपिसोड लॉन्च हो गया है। इस बार शो के मेहमान हैं, 'हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी' और 'चमेली' जैसी मशहूर फिल्मों के डायरेक्टर और स्क्रीन राइटर सुधीर मिश्रा। जानेमाने स्टोरीटेलर और लिरिसिस्ट नीलेश मिसरा के इस ख़ास इंटरव्यू शो में सुधीर मिश्रा पांचवे मेहमान बनकर आए हैं, इससे पहले के ऐपिसोड्स में फिल्म डायरेक्टर अनुराग कश्यप, म्यूज़िक कंपोज़र और फिल्म निर्माता विशाल भारद्वाज, फिल्म राइटर सलीम ख़ान और ऐक्टर पंकज त्रिपाठी दिख चुके हैं।

इंटरव्यू में सुधीर मिश्रा ने अपने निजी जीवन से लेकर अपने करियर तक, कई अनुभवों पर बात की। उन्होंने अपने बचपन के क़िस्से भी सुनाए, अपने इश्क़ के दिन भी याद किए। इन सबके अलावा एक दिलचस्प हिस्सा वो भी रहा जब सुधीर मिश्रा ने, नीलेश मिसरा को बताया कि असली 'मिसरापन' क्या होता है?

"मैने पैसे और पावर को बहुत क़रीब से देखा है, लेकिन दोनों हाथ से फिसल गए।" सुधीर मिश्रा

नीलेश मिसरा के इस इंटव्यू शो को उनके यूट्यूब चैनल 'Neelesh Misra' पर देखा जा सकता है। वहीं आपको इस शो के बाकी सारे एपिसोड मिल जाएंगे। नीलेश मिसरा की इस ख़ास इंटरव्यू सीरीज़ को दर्शक बहुत पसंद कर रहे हैं। दर्शकों का मानना है कि इतने गहराई में उतर जाने वाले, सुकून से देखे जा सकने वाले इंटरव्यू शो कम ही देखने को मिलते हैं।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top