मेरी शादी होने के बाद उन्हें लगा कि मैं गाना बंद कर दूंगी: मालिनी अवस्थी

"डेढ़-दो हफ्ते बाद मेरे पास दूरदर्शन लखनऊ से फोन आया कि हमने तो सोचा था कि अब तो शादी हो गई है, वो भी एक आईएएस ऑफिसर से, अब आप गाना बंद कर देंगी ... दूरदर्शन नेशनल कॉन्सर्ट कर रहा है, गाएंगी? मैंने कहा भई मैं बिहारी आर्टिस्टस हूं दूरदशन रेडियो की, आपने बुलाना बंद कर दिया है सोचकर कि मेरी शादी हो गई है... मैं तो गाउंगी, बिल्कुल गाउँगी।"

मालिनी अवस्थी, भारतीय लोक गायिका का चमकता सितारा। एक औरत होने के नाते सामने आई तमाम मु्श्किलों से पार पाकर, कैसे मालिनी अवस्थी अपने ख्वाबों के रास्ते पर बहुत आगे निकल गई। नीलेश मिसरा की ख़ास इंटरव्यू सीरीज़ 'द स्लो इंटरव्यू' में मालिनी ने अपने ज़िंदगी के उन पहलुओं पर खुलकर बात की, जिन्हें लोग कम ही जानते हैं। एक गायिका, जिसने एक बेटी, पत्नी और मां का फर्ज़ निभाने के साथ-साथ अपने शौक़ को भी सजाया संवारा।



कैसा था मिर्ज़ापुर में उनका बचपन, लोक गायिकी में कैसे हुई दिलचस्पी, एक आईएएस ऑफिसर से शादी के बाद कैसे ज़िंदगी पूरी तरह से बदल गई ... और कैसे एक बार फिर गायिकी की दुनिया में वापसी का रास्ता बनाया ... इंटरव्यू में लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने इन सब सवालों का बहुत ठहराव के साथ जवाब दिया।

मालिनी अवस्थी के इस इंटरव्यू में दिलचस्प वो पल रहे जब उन्होंने अलग-अलग गीतों के साथ अपनी बातों को आगे बढ़ा। इस इंटरव्यू सीरीज़ में ये पहली बार हुआ कि कोई आर्टिस्ट अपनी कला का प्रदर्शन भी साथ-साथ कर रहा हो। इंटरव्यू की शुरुआत ही एक गीत की इन पंक्तियों के साथ हुई -

दिन गए बीत सुख के, पड़ गईं लीकें स्मृति की मन: पटल पे

अब कौन उपाय मिटाऊं, जतन कर हारी

दिन गए बीत सुख के ...

नीलेश मिसरा के यूट्यूब चैनल पर चल रही 'द स्लो इंटरव्यू' सीरीज़ का ये आठवां एपिसोड है। इससे पहले पद्मश्री एक्टर मनोज बाजपेयी, फिल्म निर्माता निर्देशक विशाल भारद्वाज, फिल्म राइटर सलीम ख़ान समेत कई हस्तियां इस शो पर आ चुकी हैं।


इसे भी पढ़ें - सलीम ख़ान: मुझे लगता है मैंने उम्मीद से ज़्यादा पाया है
इसे भी पढ़ें - सियासत में जाता तो अभी तक अल्कोहॉलिक होकर मर गया होता: सुधीर मिश्रा

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top