बिहार के इन बच्चों ने जीता सात देशों के एक हजार बच्चों के बीच 'बेस्ट प्रजेंटर' का अवार्ड

शिवानंद गिरि, कम्युनिटी जर्नलिस्ट

बेगूसराय (बिहार)। सरकारी मिडिल स्कूल में पढ़ने वाले इन बच्चों के साथ शिक्षकों को भी नहीं पता था कि भारत ही नहीं कई देशों के एक हजार बच्चों के बीच वो बेस्ट प्रजेंटर का इनाम जीतेंगे।

बिहार के बेगूसराय के सरकारी मिडिल स्कूल में पढ़ने वाले वैभव और राधा को सात देशों के एक हजार बच्चों के बीच बेस्ट प्रजेंटर का इनाम मिला है। गुजरात के अहमदाबाद में आयोजित चिल्ड्रेंस क्लाइमेट कॉन्फ्रेंस में भारत के अलावा अमेरिका, अर्जेंटीना, श्रीलंका ,बांग्लादेश, संयुक्त राज अमीरात जैसे देशों के 1000 से अधिक बच्चों व उनके अभिभावकों के अलावे 100 से अधिक प्रभावी वक्ताओं जिसमें वैज्ञानिक ,पत्रकार, पर्यावरणविद, सामाजिक कार्यकर्ता आदि ने शिरकत किया था।


मिडिल स्कूल की शिक्षिका शिक्षिका बताती हैं, "हमें जब जानकारी मिली कि ऐसा कोई कार्यक्रम हो रहा है, तब हमने सोचा कि हम वहां जाकर देखेंगे क्यों न हम भी कोई मॉडल बनाएं, हमारे बच्चों में भी प्रतिभा है।" इस कॉन्फ्रेंस में प्रतिभागी अपने मार्गदर्शक शिक्षिका अनुपमा सिंह के साथ काफी कम समय में तैयारी की। फिर उसके प्रैक्टिकल ज्ञान को बढ़ाने के लिए एक निजी विद्यालय भारद्वाज गुरुकुल में जा वहां वर्षा जल संरक्षण के तरीके को देखने के बाद बच्चों ने अच्छी तैयारी कर मॉडल बनाया।

वैभव बताते हैं, "जब हमें पता चला कि हमें अहमदाबाद जाना है तो हमने तैयारी शुरू कर दी और कई दिनों की मेहनत के बाद हमने ये मॉडल बनाया, जिसे लोगों ने खूब पसंद किया। हमने इस मॉडल में अपने स्कूल को ही दिखाया था कि कैसे हम पानी बचा सकते हैं।"


इंडस यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद की वाइस चांसलर डॉक्टर ऋतु और निदेशक मंडल के अध्यक्ष मुगरुअनंत ने इन दोनों बच्चों के मॉडल को बच्चों को 'बेस्ट परजेंटेर' का अवार्ड दिया, तो एक बार में लोगों को भरोसा ही नहीं हुआ।

स्कूल के प्रिंसिपल बताते हैं, "हमारे यहां बच्चे अहमदाबाद गए और जल संरक्षण पर बच्चों ने अपना प्रोजेक्ट बनाया और उनके प्रोजेक्ट को काफी सराहा गया, हमें गर्व है कि हमारे बच्चों ने बेहतरीन प्रस्तुति के साथ इसी प्रोजेक्ट पर बेस्ट प्रजेंटर का पुरस्कार जीता।"

बच्चों की इस उपलब्धि को बेगूसराय जिला प्रशासन सहित विभिन्न सामाजिक संगठनों ने भी काफी सराहा है और प्रतिभागियों को सम्मानित करने का सिलसिला जारी है। 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस समारोह के अवसर पर आयोजित एक भव्य कार्यक्रम में बिहार के श्रम मंत्री व जिला के प्रभारी मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने हजारों लोगों के सामने सम्मानित कर न सिर्फ इन बच्चों की हौसला अफजाई की बल्कि जिले के अन्य बच्चों को भी इन से प्रेरणा लेने की अपील भी की। इन बच्चों के कामयाबी से बिहार के किलकारी भवन के अधिकारी सहित शिक्षाविदों ने भी खुशी जाहिर की है।

ये भी देखिए : देश के लिए खेल चुका खिलाड़ी अब गाँव के युवाओं को सिखा रहा फुटबॉल



More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top