गेहूं खरीद में 18 प्रतिशत की कमी

गेहूं खरीद में 18 प्रतिशत की कमीgaonconnection

नई दिल्ली (भाषा)। गेहूं के अधिक उत्पादन होने की भविष्यवाणी के बावजूद बाजार में कम आवक के बाद इस वर्ष गेहूं खरीद का काम प्रभावित हुआ है जो अभी तक 18 प्रतिशत घटकर 2.29 करोड़ टन रह गया है।

चालू विपणन वर्ष 2016-17 में गेहूं खरीद 2.29 करोड़ टन के स्तर को छू गयी है और खरीद की प्रक्रिया लगभग समाप्त हो गयी है। खाद्यान्नों की खरीद और वितरण करने वाली प्रमुख एजेंसी, भारतीय खाद्य निगम(एफसीआई) ने विपणन वर्ष 2015-16 (अप्रैल से मार्च) में 2.8 करोड़ टन गेहूं की खरीद की थी। खरीद अप्रैल से जून के दौरान की जाती है।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि खरीद का काम इसलिए कम हुआ है क्योंकि इस वर्ष बाजार में गेहूं की कम आवक हुई है। यह आवक करीब 2.56 करोड़ टन की हुई है जबकि बाजार में यह आवक पिछले वर्ष 3.1 करोड़ टन की हुई थी। अधिकारी ने कहा कि हालांकि देश में गेहूं की कोई कमी नहीं होगी क्योंकि एफसीआई के पास स्टॉक में करीब 3.1 करोड़ टन गेहूं है जबकि गेहूं रखने का बफर मानदंड एक जुलाई को 2.75 करोड़ टन ही था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top