गोवा में होगी काजू की जैविक खेती

गोवा में होगी काजू की जैविक खेतीgaon connection

पणजी । गोवा में काजू उत्पादन में स्थिरता के बीच राज्य सरकार ने उत्पादकता बढ़ाने के लिए किसानों को जैविक खाद उपलब्ध कराने का फैसला किया है। 

कृषि निदेशक उल्हास पई काकोड ने कहा, ‘‘इस साल काजू उत्पादन ज़ोर पर है। हम किसानों को सब्सिडी दर पर जैविक खाद की आपूर्ति करेंगे जिससे उन्हें अधिक उत्पादकता में मदद मिलेगी।’’  काजू की खेती तटीय राज्य में 55,000 हेक्टेयर से अधिक भूमि पर होती है। उन्होंने कहा, ‘‘इस साल हम करीब डेढ़ हजार हेक्टेयर भूमि लेंगे जहां उत्पादकों को खाद उपलब्ध कराया जाएगा।’’ कृषि विशेषज्ञों से परामर्श के बाद विभाग ने उत्पादकों को कृषि सहकारी संस्थानों के ज़रिये कम दर पर नीम केक और रॉक फास्फेट की आपूर्ति करने का फैसला किया है। काकोड ने कहा कि राज्य में काजू की खेती में रखरखाव का अभाव है जिसके कारण उत्पादन कम है। 

उन्होंने कहा, ‘‘औसतन काजू के एक पेड़ पर सालाना एक से डेढ किलो काजू की उपज होती है। अगर पेड़ को जैविक खाद दी जाए तो इस उत्पादकता को बढ़ाकर 15 से 20 किलो प्रति पेड़ किया जा सकता है।’’ 

गोवा हर साल करीब 25,000 टन काजू का उत्पादन करता है लेकिन इसके बावजूद प्रसंस्करण उद्योग को दूसरे राज्यों या अफ्रीकी देशों से काजू लेना पड़ता है।  कृषि निदेशक ने कहा, ‘‘गोवा की कृषि के लिए काजू आधार है। उत्पादन में वृद्धि से जहां एक तरफ राज्य की अर्थव्यवस्था सुधरेगी वहीं किसानों की वित्तीय स्थिति सुधरेगी।’’ 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top