गरीबों का हिस्सा खा रहे कोटेदार

गरीबों का हिस्सा खा रहे कोटेदारgaonconnection

कांट (शाहजहांपुर)। राशन कार्डों के आॅनलाइन फीडिंग होने के बाद से अभी तक राशन कार्ड धारकों की परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही हैं।

कोटेदारों द्वारा पूर्ति कार्यालय से रसीद न आने की बात कहकर राशन कार्ड धारकों को लगातार टरकाया जा रहा है और शिकायत करने पर उन्हें तरह-तरह से कोटेदारों द्वारा परेशान किया जाता है। कहीं-कहीं तो कोटेदारों की दबंगई के चलते ग्रामीण शिकायत करने की भी हिम्मत नहीं जुटा पाते हैं और यदि ग्रामीण हिम्मत करके शिकायत करते भी हैं तो  भ्रष्टाचार के चलते जांचकर्ता कोटेदारों के पक्ष में रिपोर्ट लगा देते हैं, जिसकी वजह से दबंग कोटेदारों के हौंसले काफी बुलन्द हैं। 

जिला पूर्ति कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार के चलते जनपद में कोटेदारों द्वारा बड़े पैमाने पर खाद्यान्न और मिट्टी का तेल ब्लैक कर दिया जाता है, जिससे ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है। इसी तरह का एक मामला जिला मुख्यालय से दक्षिण दिशा की ओर ब्लाक कांट के गाँव रावतपुर का सामने आया। गाँव रावतपुर का कोटा एक वृद्ध महिला करैशा बेगम के नाम है, जिसकी उम्र 60 से भी अधिक है। इस महिला कोटेदार ने खाद्यान्न बांटने की जिम्मेदारी अनफास उर्फ मगल्लू नाम के व्यक्ति को दे रखी है जो  दबंग और अपराधी किस्म का व्यक्ति है। मगल्लू द्वारा खाद्यान्न वितरण में अनियमितताएं किए जाने औऱ राशन कार्ड धारकों के साथ अभद्रता किए जाने की लिखित शिकायत ग्रामीणों ने उपजिलाधिकारी सदर से की। 

शिकायत की जांच बलवीर सिंह और हलका लेखपाल इकबाल ने की। ग्रामीणों ने हलका लेखपाल को अपनी परेशानियों के बारे में बताया और कहा कि खाद्यान्न वितरक हम लोगों को गल्ला और मिट्टी का तेल आदि नहीं देता है और अपनी दबंगई दिखाकर अभद्रता करता है। अब थोड़ा बहुत राशन आदि बांटकर के बाकी सब ब्लैक कर देता है। भुक्तभोगी ग्रामीणों द्वारा हलका लेखपाल को खाद्यान्न वितरक के विरुद्ध बयान देने के बाद भी जांच रिपोर्ट उसके पक्ष में लगा देने से सभी ग्रामीण भड़क गए और उन्होंने कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन कर कोटेदार द्वारा की जा रही अनियमितताओं की मजिस्ट्रेट जांच की मांग की। 

गाँव की रहने वाली मुन्नी देवी व अफसर अली ने बताया कि हम लोग कई बार शिकायतें कर चुके हैं, लेकिन अभी तक कोटेदार के विरुद्ध कोई भी कार्रवाई नहीं हुई। अनफास उर्फ मगल्लू गाँव में शिकायतकर्ताओं को धमकाता है और कहता है कि जांच में हमारा कुछ नहीं बिगड़ेगा। हमने रुपए दे दिये हैं। इसी गाँव के अजीत सिंह ने कहा, “यदि अब भी कोटेदार व वितरक के विरुद्ध प्रभावी कार्रवाई नहीं की गयी तो हम सभी लोग कलेक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन शुरू कर देंगे।” 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top