गुजरात के 50 हजार किसानों ने ऑनलाइन खरीदा फसल बीमा

गुजरात के 50 हजार किसानों ने ऑनलाइन खरीदा फसल बीमाgaonconnection

नई दिल्ली। भयंकर सूखे का सामना करने के बाद किसानों ने फसल बीमा योजना को गंभीरता से लेना शुरू किया है जहां गुजरात में 50,000 किसानों ने प्रदेश के पोर्टल के जरिए नई फसल बीमा कवच, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) के लिए खुद को पंजीकृत किया है।

इस वर्ष शुरू किए गए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों के लिए प्रीमियम की राशि को कम कर दिया गया है। अब खाद्यान्न एवं तिलहन फसलों के लिए प्रीमियम 1.5 से दो प्रतिशत के बीच तथा बागवानी एवं कपास फसलों के लिए पांच प्रतिशत तक रखा गया है। 

प्रीमियम की राशि की अंतिम सीमा तय नहीं की गई है।  कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “गुजरात में फसल बीमा के प्रदेश के पोर्टल के जरिए 50,000 से अधिक किसानों ने अभी तक पीएमएफबीवाई के लिए नाम दर्ज कराया है।” उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में गुजरात ही एक राज्य है जो सख्ती से अपने ई-पोर्टल के जरिए इस योजना के तहत किसानों को पंजीकृत कर रही है। 

उत्तर प्रदेश सहित अन्य राज्यों में किसानों को बैंकों, प्राथमिक कृषि ऋण सोसायटी (पीएसीएस) सहित संबंधित एजेंसियों के द्वारा पंजीकृत किया जा रहा है। कृषि मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “ऑनलाइन और अन्य रास्तों दोनों के जरिए पंजीकरण किया जाएगा। किसानों की वास्तविक संख्या का बाद में पता लगेगा। एक बार बैंक बीमाकृत किसानों के विवरण को केंद्रीय फसल बीमा योजना पोर्टल पर अपलोड कर दें तो ये सभी अंशधारकों को ज्ञात होगा।”

फिलहाल आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, छत्तीसगढ़, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, उत्तराखंड और पं बंगाल जैसे 11 राज्यों तथा अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह जैसे एक केंद्र शासित प्रदेश ने पीएमएसबीवाई को अधिसूचित किया है।        

कृषि मंत्रालय ने इस नई योजना को लागू करने के लिए 11 निजी क्षेत्र की कंपनियों तथा प्रदेश सरकार के स्वामित्व वाली कृषि बीमा कंपनी को पैनल में रखा है। कृषि मंत्रालय सरकार चार जरनल इंश्योरेन्स कंपनियों को भी पैनल में रखने के लिए सक्रियता से विचार कर रहा है।   

Tags:    India 
Share it
Top