हर हाल में खेतों तक पहुंचेगा पानी: शिवपाल सिंह

हर हाल में खेतों तक पहुंचेगा पानी: शिवपाल सिंहgaoconnection

लखनऊ। “प्रदेश में नहरों, माइनरों और रजबहों की सिल्ट सफाई सुनिश्चित करें। उनकी सफाई मनरेगा के मद से ही करायी जाए। प्रदेश सरकार हर हाल में किसानों के खेत तक पानी पहुंचाएगी।” सिंचाई मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा।

शिवपाल सिंह यादव सिंचाई विभाग के सभागार, लखनऊ, में प्रदेश के बाढ़, सूखे एवं विभागीय वित्तीय स्वीकृति के सम्बन्ध में समीक्षा कर रहे थे। सिंचाई मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि भीषण गर्मी को देखते हुए सूखे से प्रभावित जनपदों में जानवरों और आम आदमियों के लिए पीने के पानी की पर्याप्त व्यवस्था की जाये। उन्होंने कहा, “जिलाधिकारी से बात करके सभी आवश्यक सुविधाओं की तत्काल व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।” उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि बाढ़ एवं सूखे से प्रभावित जनपदों को अभी से चिन्हित कर लिया जाये। तालाबों, जलाशयों को गहरा करें ताकि बारिश होने पर पर्याप्त पानी को स्टोर किया जा सके। इससे हमें सूखे की स्थित से निपटने में सहायता मिल सकेगी।

आधुनिक तकनीक का प्रयोग जरूरी

सिंचाई मंत्री ने विभागीय अभियन्ताओं को आधुनिक तकनीक के प्रयोग करने पर विशेष ध्यान दिये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा, “दुनिया तेजी से बदल रही है तथा हम समय को देखते हुए बिना आधुनिक तकनीकी का प्रयोग किये बिना उनके साथ नहीं चल सकते हैं।” उन्होंने सभी मुख्य अभियन्ताओं को कम से कम महीने में 10 दिन अवश्य फील्ड में जाकर निरीक्षण करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा, “जो भी प्रोजेक्ट अधूरे हैं उनमें तेजी लाएं और अतिशीघ्र उसकी रिवाइज स्टीमेट बनाकर नाबार्ड को भेजें, जिससे आवश्यक धनराशि की मांग की जा सके।”

गोमती नदी पर कराए गये काम की हो रही तारीफ

सिंचाई मंत्री ने कहा, “मलेशिया, हांगकांग तथा सिंगापुर की टीम ने गोमती पर कराये जा रहे कार्यों की तारीफ की है।” उन्होंने कहा कि विदेशों में जो रिवरफ्रन्ट पर काम छह साल में हुए हैं उसे यहां नौ महीने में कराकर अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति अर्जित की जो उत्तर प्रदेश की ऐतिहासिक उपलब्धि है। अब हम गोमती के साथ ही मथुरा-वृन्दावन की यमुना, अयोध्या की सरयू नदी का घाट, बनारस में वरूणा नदी पर भी रिवरफ्रन्ट काम करा रहे हैं और जल्द ही गंगा नदी पर भी काम कराने का प्रयास किया जायेगा।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.