हर मंडल में होगा सीबीएसई बोर्ड का सरकारी स्कूल

हर मंडल में होगा सीबीएसई बोर्ड का सरकारी स्कूलgaon connection, गाँव कनेक्शन

लखनऊ। बच्चों को अब मुफ्त में अंग्रेजी शिक्षा भी दी जाएगी, वो भी सीबीएसई बोर्ड की तर्ज पर। बच्चों को मुफ्त में सीबीएसई बोर्ड की शिक्षा देने के लिए अब प्रमुख सचिव ने प्रदेश के सभी 18 मंडलों में एक-एक स्कूल संचालन के निर्देश दिए हैं।

प्रदेश के प्रमुख सचिव जितेंद्र कुमार ने इस संबंध में दिशानिर्देश जारी किए हैं। निर्देशों के अनुसार समाजवादी अभिनव विद्यालय योजना के तहत सभी मंडलों के मुख्यालय पर एक स्कूल का संचालन कराया जाना है। अभी तक प्रदेश में 191 मॉडल स्कूलों का संचालन किया जा रहा है। इन स्कूलों में यूपी बोर्ड की तर्ज पर पढ़ाई होती है लेकिन अंग्रेजी पर विशेष ध्यान दिया जाता है। मंडल पर बनने वाले इन स्कूलों में आवासीय व्यवस्था भी सुनिश्चित कराई जानी है।

इन स्कूलों में हिंदी माध्यम से शिक्षा तो दी ही जाएगी, साथ ही अंग्रेजी भाषा के ज्ञान पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। कक्षा छह से 12 तक के इन स्कूलों में कक्षा आठ तक हर कक्षा में केवल 35 छात्रों का प्रवेश किया जाएगा। नौ से 12 तक की कक्षा में अधिकतम छात्रों की संख्या 40 होगी। उन्नाव के नवाबगंज उच्च माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक सत्यदेव सिंह बताते हैं, ''इन स्कूलों से उन बच्चों को काफी फायदा होगा जो निर्धन हैं और सीबीएसई बोर्ड से पढ़ना चाहते हैं क्योंकि बाकी सीबीएसई बोर्ड वाले प्राइवेट स्कूलों की फीस बहुत ज्य़ादा होती है।"   

शैक्षिक सत्र 2016-17 में इन स्कूलों में आवास की व्यवस्था नहीं होगी। अगले सत्र में इन स्कूलों को आवासीय विद्यालय बनाया जाना है। कक्षा आठ तक में प्रवेश के लिए किसी भी प्रवेश परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा। लेकिन कक्षा नौ और 11 में छात्र-छात्रों के चयन के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित होगी, जिसका नाम समाजवादी अभिनव विद्यालय चयन परीक्षा होगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top