गाँव कनेक्शन असर : दिसंबर में खुुलेगा आधुनिक किसान बाज़ार

Devanshu Mani TiwariDevanshu Mani Tiwari   7 Nov 2017 7:14 PM GMT

गाँव कनेक्शन असर : दिसंबर में खुुलेगा आधुनिक किसान बाज़ारगाँव कनेक्शन ने उठाई थी अवाज़, पिछले दो वर्षों से बंद पड़ा है आधुनिक किसान बज़ार

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। लखनऊ के विभूति खंड में पिछले दो वर्षों से बंद पड़े किसान बाज़ार को मंडी परिषद ने फिर से खोलने का निर्णय लिया है। गाँव कनेक्शन ने बाज़ार को किसानों के लिए दोबारा शुरू करने की खबर ' किसानों से दूर हुआ किसान बाज़ार ' छापी थी, जिसके बाद मंडी परिषद ने किसान बाज़ार दोबारा खोलने का फैसला लिया है।

आधुनिक किसान बाज़ार फिर से खुलने की बात कहते हुए मंडी परिषद के निदेशक धीरज कुमार ने गाँव कनेक्शन को बताया,'' किसान बाज़ार में फूल बाज़ार शिफ्ट करने का प्रावधान था, काफी वर्षों से यह लागू नहीं हो पा रहा था, हमने इसपर संज्ञान लेते हुए इस वर्ष दिसंबर तक किसान बाज़ार में पुष्प बाज़ार शुरू करने की तैयारी पूरी कर ली है।''

ये भी पढ़ें : बायोसिक्योरिटी करके बढ़ाएं पोल्ट्री व्यवसाय में मुनाफा

लखनऊ के विभूति खंड में वर्ष 2015 में शुरू हुई इस योजना में किसानों को तुरंत आओ और तुंरत पाओ के आधार पर दुकानों का आवंटन किया गया था। योजना शुरू होने के पांच से छह महीनों तक कुछ किसानों ने बाज़ार में आकर अपना सामान बेचा भी। इसके साथ साथ फूल के बाज़ार को मज़बूती देने के लिए अलग से पुष्प बाज़ार भी शुरू किया गया, लेकिन विभागीय नियमों और विधानसभा चुनाव के बीच में होने के कारण धीरे धीरे बाज़ार में किसानों का आना कम पड़ गया।

" नवंबर के बाद शादी-विवाह का समय शुरू हो जाएगा, इसलिए हमारी कोशिश है कि तब तक हम किसान बाज़ार में पुष्प बाज़ार शुरू कर दें, जिससे फूल व्यापारियों व किसानों को अच्छे दाम भी मिल पाएंगे।'' धीरज कुमार ने आगे बताया।

ये भी पढ़ें : आयुर्वेट के एमडी मोहन जे सक्सेना का इंटरव्यू : ‘डेयरी से कमाना है तो दूध नहीं उसके प्रोडक्ट बेचिए’

किसान बाजार में 50 से अधिक दुकानें हैं, जिन्हें किसानों को डेली बेसिस पर अलॉट किए जाने का आदेश था। इन दुकानों पर किसान अपने उत्पाद को रखकर बेच सकते हैं। दुकानों को प्रतिदिन के हिसाब से टोकन देकर दुकानदार को आवंटित किया जाता था। '' इस बार पर दुकाने सस्ते रेट पर आवंटित की जाएंगी इसके अलावा बाज़ार में कृषि उत्पादों और फूलों के भंडारण के लिए आधुनिक स्टोरेज यूनिट भी बनाई जाएंगी।'' धीरज कुमार ने बताया।

अाधुनिक किसान बाज़ार की खासियत

किसान बाज़ार में शहरी ग्राहकों और बच्चों को लुभाने के लिए अलग से फूड कोर्ट और किड्स ज़ोन भी बनाया गया है। बाज़ार में इस हिस्से में दुकान का आवंटन वार्षिक रजिस्ट्रेशन के आधार पर किया गया है।

यह भी पढ़ें: गाय भैंस के लिए कृत्रिम गर्भाधान बेहतर लेकिन ये हाईटेक उपकरण और जानकारी ज़रूरी

यह भी पढ़ें:गाय की लंबी उम्र के लिए उनके पेट में छेद कर रहे अमेरिका के किसान

यह भी पढ़ें:अगर गाय और गोरक्षक के मुद्दे पर भड़कते या अफसोस जताते हैं तो ये ख़बर पढ़िए...

यह भी पढ़ें:महिला किसान दिवस विशेष : इन महिला किसानों ने बनायी अपनी अलग पहचान

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top