ख़बर का असर : अपर सचिव ने बताई कॉलेज की गलती 

Ajay MishraAjay Mishra   16 Nov 2017 2:41 PM GMT

ख़बर का असर : अपर सचिव ने बताई कॉलेज की गलती इलाहाबाद में मनीषा और कन्नौज के संरक्षण अधिकारी से बात करते अपर सचिव माध्यमिक शिक्षा परिषद। फोटो- गाँव कनेक्शन

कन्नौज। ‘‘जाओ बेटी, मन लगाकर पढ़ना। बोर्ड परीक्षा का तुम्हारा प्रवेश पत्र पहुंचेगा। फरवरी में हाईस्कूल की परीक्षा दे सकोगी।’’ अपर सचिव माध्यमिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद शिवलाल के यह शब्द सुनकर छात्रा मनीषा शंखवार खुश हो गई।

मंगलवार को सुबह बाल संरक्षण अधिकारी विजय कुमार राठौर के नेतृत्व में आपकी सखी आशा ज्योति केंद्र में 181 की काउंसलर देवांश प्रिया, एएसआई राजाबेटी और आरक्षी राशिद की देखरेख में गोमती देवी गर्ल्स इंटर कालेज कन्नौज में हाईस्कूल की छात्रा रही मनीषा इलाहाबाद बोर्ड कार्यालय के लिए चौपहिया वाहन से रवाना हुई।

मनीषा के साथ उसकी मां मिथलेश (45 वर्ष) और चाची मीना (40 वर्ष) भी थीं। संरक्षण अधिकारी ने मोबाइल पर ‘गाँव कनेक्शन’ के इस संवाददाता को बताया, ‘‘माध्यमिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद बोर्ड की सचिव के न हो पाने से अपर सचिव शिवलाल से मुलाकात हुई। फीस को लेकर छात्रा मनीषा का नाम काटने का प्रकरण सुनने के बाद उन्होंने कॉलेज की गलती बताई।’’

इस खबर का हुआ असर-कन्नौज : जिस छात्रा का काटा गया नाम उसकी मां को विधवा पेंशन भी नहीं

संरक्षण अधिकारी ने आगे बताया, ‘‘अपर सचिव ने कहा कि स्कूल ने तो अपना बचाव किया है। बच्ची छोटी है जो अपनी बात नहीं कह पाई। हालांकि उसे स्कूल भी जाना चाहिए था। अब एसपी साहब, आप और अन्य विभाग लगे हैं तो मनीषा हाईस्कूल के पेपर देगी। सचिव आ जाएं, उनसे अनुमति लेकर कागजी प्रक्रिया पूरी कराएंगे।’’

उन्होंने आगे कहा, ‘‘अपर सचिव ने कागजों को मार्क कर मनीषा से कहा, अच्छे से पढ़ाई करना। सबका मान रखना। यह लोग परेशान हुए हैं। बोर्ड परीक्षा का 201 रुपए शुल्क कालेज की ओर से भी नहीं जमा किया गया है। इसे राजकोष से जमा कराया जाएगा। आफलाइन फार्म भर गया है।’’

अपर सचिव ने कहा है, “अन्य जगह के भी कुछ बोर्ड प्रवेश को लेकर प्रकरण हैं। सचिव की अनुमति के बाद प्रक्रिया पूरी करा दी जाएगी। मनीशा की मां और चाची भी साथ थीं। मोबाइल पर अपर सचिव की एसपी साहब से वार्ता भी कराई। उन्होंने अच्छा व्यवहार किया। कालेज की प्रधानाचार्य से भी फोन पर बात हुई।’’ उधर, मनीषा ने बताया, ‘‘उन्होंने कहा है कि पेपर दो जाकर। हम लोग गाड़ी से इलाहाबाद गए थे।’’

ये भी पढ़ें-खबर का असर : दलित छात्रा का नाम काटे जाने के मामले की जांच शुरू

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top