इस वित्त वर्ष में आठ प्रतिशत कम रह सकता है कॉफी उत्पादन: सरकार

इस वित्त वर्ष में आठ प्रतिशत कम रह सकता है कॉफी उत्पादन: सरकारgaonconnection

नई दिल्ली (भाषा)। सरकार ने आज कहा कि मौजूदा वित्त वर्ष में घरेलू कॉफी उत्पादन में आठ प्रतिशत की गिरावट हो सकती है जिसकी मुख्य वजह समय पर पर्याप्त बारिश नहीं होना है।

वाणिज्य और उद्योग मंत्री निर्मला सीतारमण ने लोकसभा में एक प्रश्न के उत्तर में कहा, ‘‘अनुमान है कि 2016-17 में कॉफी उत्पादन में 2015-16 की तुलना में आठ प्रतिशत की कमी आ सकती है जिसकी वजह समय पर बारिश नहीं होना और फसल के लिहाज से तापमान अधिक होना हैं।'' उन्होंने कहा कि कॉफी बोर्ड फसल उत्पादकों को विस्तार गतिविधियों और जल संवर्धन के लिए सहयोग दे रहा है। इसके अलावा कॉफी उत्पादकों को कम बारिश की वजह से फसल को होने वाले नुकसान के लिए ‘कॉफी के लिए वर्षा कमी बीमा योजना' के तहत मुआवजा दिया जाता है।

भारत की कॉफी के खरीददार देशों में मुख्य रुप से इटली, रुस, जर्मनी, बेल्जियम और तुर्की हैं और इन देशों को भारत से 50 प्रतिशत से अधिक कॉफी निर्यात किया जाता है। सीतारमण ने बताया कि कॉफी निर्यातक संघ ने वाणिज्य विभाग को ज्ञापन देकर ग्रीन कॉफी बीन्स को प्रस्तावित वस्तु एवं सेवा कर (GST) में छूट प्राप्त सूची में रखने का अनुरोध किया है। मामले पर विचार चल रहा है। उन्होंने कॉफी अधिनियम, 1942 को निष्प्रभावी करने के प्रस्ताव के संबंध में कहा कि यह कानून उद्देश्य की पूर्ति नहीं कर रहा है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top