इशरत और चिदंबरम मामले पर सदन में जमकर हंगामा

इशरत और चिदंबरम मामले पर सदन में जमकर हंगामाgaon connection, ishrat

गाँव कनेक्शन नेटवर्क
नई दिल्ली।
देश के पूर्व वित्त मंत्री पी चिंदबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों और इशरत जहां मामले को लेकर संसद के दोनों सदनों में बुधवार को भी हंगामा जारी है।
राज्यसभा में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम का मुद्दा सत्र शुरू होते ही हावी रहा। एआईएडीएमके सदस्यों ने कार्रवाई की मांग करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी जिसके बाद सदन को पहले 10 मिनट के लिए स्थगित कर दिया गया।
दोबारा कार्रवाई शुरू होने पर भी हंगामा जारी रहा जिसके बाद सदन को 12 बजे तक के लिए दोबारा स्थगित कर दिया गया। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि सरकार चिदंबरम के मामले पर चर्चा के लिए तैयार है।
इशरत मामले पर वेंकैया ने उठाया सवाल
बीजेपी सांसद ओम बिड़ला ने लोकसभा में नोटिस देकर कार्ति चिदंबरम मामले पर बहस की मांग की तो वहीं, संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नायडू ने इशरत जहां मामले में हलफनामा बदलने के आरोपों में तत्कालीन प्रधानमंत्री और गृह मंत्री से जवाब मांगा है। वैंकैया कहा, 'मनमोहन सिंह और पी. चिदंबरम को आगे आकर जवाब देना चाहिए कि हलफनामा क्यों बदला गया और उन्हें किस आधार पर शहीद कहा था।' बीजेपी सांसद भूपेंद्र यादव ने राज्यसभा में इशरत जहां मामले को उठाते हुए 'कॉलिंग अटेंशन नोटिस' दिया है। वहीं, कांग्रेस ने भी इशरत जहां मुद्दे में बीजेपी को घेरने की प्लानिंग की है।
सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा 'हम कांग्रेस से इस मुद्दे पर जवाब मांगेंगे। क्योंकि जो बातें सामने आ रही हैं उनसे साफ़ लगता है कि उस समय जो भी हुआ वो पूरी तरह से देश विरोधी था।'   

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top