इटावा में बनेगा विश्व का सबसे बड़ा सारस संरक्षण केंद्र

इटावा में बनेगा विश्व का सबसे बड़ा सारस संरक्षण केंद्रगाँव कनेक्शन, gaon connection, crane

इटावा। इटावा लॉयन सफारी व चंबल बर्ड सेंचुरी जैसे महत्वपूर्ण कदम उठाने के बाद प्रदेश सरकार प्रदेश में सारस पक्षी के संरक्षण व इसके लिए उचित पर्याटन व्यवस्था बनाने के लिए कई ठोस कदम उठाए हैं।

इटावा के मिनी पीजीआई ऑडिटोरियम हॉल में दो दिवसीय सारस एवं वेटलैंड संरक्षण पर आयोजित संगोष्ठी को संबोधित करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा, ''सारस दुनिया में सबसे अधिक भारत में पाए जाते हैं, जिसमें देश की कुल संख्या के 60 प्रतिशत सारस उत्तर प्रदेश में पाए जाते हैं। सारस पक्षी हमारे मित्र होने के साथ-साथ हमें सीख भी देते है।"

भारत वर्ष में सारस क्रेन उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान, गुजरात, बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ तथा उत्तर पूर्वी महाराष्ट्र में पाए जाते हैं। भारत वर्ष में क्रेन की छह प्रजातियां पाई जाती हैं, जिसमें सारस सर्वाधिक लोकप्रिय है।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने लोगों से बताया, ''सारस का संरक्षण करना जितना आवश्यक है, उतना ही वेटलैंड को संरक्षित करना हमारी जि़म्मेदारी है, क्योंकि तभी पक्षी ज़्यादा देर तक रुक पाएंगे। इसके लिए शेखा झील को वर्ल्ड झील बनाए जाने के लिए चयनित कर लिया गया है। सारस हमारा राज्य पक्षी है, इसके संरक्षण हेतु हर सम्भव प्रयास किये जाएंगे।"

सारस संगोष्ठी में सारस के लिए महत्वपूर्ण देश भारत, नेपाल, म्यामार, वियतनाम तथा कम्बोडिया के अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के विशेषज्ञों ने भाग लिया। इसके अतिरिक्त संगोष्ठी में वेटलैण्ड संरक्षण के लिये विभिन्न देशों के विशेषज्ञों, बाम्बे नेचुरल हिस्ट्री सोसाइटी, इण्टर नेशनल क्रेन फाउन्डेशन, वाइल्ड फाउल ट्रस्ट के विशेषज्ञों तथा प्रतिनिधियों द्वारा भाग लिया गया। 

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने 'क्रेन-ए पिकटोरियल लाइफ हिस्ट्री' काफी टेबल बुक, 'क्रेन कोन्टीटेन्सी' किताब, 'वर्ड फैस्टिवल - एक रिपोर्ट' किताब, 'यूपी ईको टूरिजम' और 'वर्ड आल यूपी' पेन ड्राइव का अनावरण किया गया। इस अवसर पर मुख्य वन संरक्षक लायन सफारी रूपक डे, राम प्रताप सिंह, मैसूर के गोपी सुन्दर जैसे वक्ताआें ने आपने -अपने विचार रखें।

संगोष्ठी में सांसद तेज प्रताप यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष अंशुल यादव, विधायक सुखदेवी वर्मा, निदेशक रिम्स एण्ड आर ब्रिगेडियर टी. प्रभाकर, आयुक्त कानपुर मण्डल कानपुर मो. इफ्तेखरूद्दीन सहित भारी संख्या में गणमान्य नागरिक एवं पक्षी प्रेमी उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा,'' समाजवादी पार्टी महागठबंधन पर भरोसा नहीं करती है बल्कि समाजवादी पार्टी विकास पर भरोसा करती है। हम निचले तबके को भी विकास की धारा से जोडऩा चाहते हैं।"

सारस मित्रों को मिलेंगें हर महीने एक हज़ार रुपए

दो दिवसीय संगोष्ठी में मुख्यमंत्री ने सारस संरक्षण के लिए अच्छा कार्य करने वाले सारस मित्रों (सौरभ शुक्ला, संदीप दुबे, महाराष्ट्र के डा. अशद रहमानी, वियतनाम से आये डॉ. ट्रेन ट्रेट, उड़ीसा के वीसी चौधरी और कर्नाटक के गोपी सुंदर) को अपने क्षेत्र में सबसे अच्छा काम करने के लिए सम्मानित किया। इसके साथ-साथ सारस मित्रों को एक हजार रूपये प्रतिमाह प्रोत्साहन भत्ता स्वरूप प्रदान करने का आदेश भी मुख्यमंत्री ने दिया।

रिपोर्टिंग - मसूद तैमूरी

Tags:    India 
Share it
Top