ज़ाकिर नाईक ने वीडियो से छेड़छाड़ का किया दावा

ज़ाकिर नाईक ने वीडियो से छेड़छाड़ का किया दावाgaonconnection

मुंबई (भाषा)। विवादास्पद इस्लामी प्रचारक जाकिर नाइक (50 वर्ष) ने इन आरोपों से इनकार किया है कि उसकी तकरीरें आतंकी गतिविधि के लिए प्रोत्साहित करती हैं।

नाइक ने शुक्रवार को दावा किया कि उन्होंने निर्दोषों की हत्या के लिए कभी किसी को बढ़ावा नहीं दिया। जाकिर ने कहा कि अगर कोई जांच एजेंसी उनसे संपर्क करेगी तो वे उसे पूरा सहयोग देंगे।

मदीना से स्काइप के जरिए मीडियाकर्मियों से मुखातिब नाइक ने सभी आतंकी हमलों की भर्त्सना की और खुद को ‘‘शांतिदूत'' बताया। आरोप है कि ढाका में कैफे पर हमला करने वाले आतंकी कथित तौर पर नाइक से प्रभावित थे।

जाकिर ने कहा, ‘‘मैंने किसी आतंकवादी को प्रेरित नहीं किया। निर्दोष लोगों को निशाना बनाकर किए गए आत्मघाती हमलों की मैं निंदा करता हूं।'' उन्होंने यह भी कहा कि आतंकवाद और आत्मघाती हमलों पर उनके बयानों से ‘‘छेडछाड़'' हुई है।

मुंबई के रहने वाले धर्म प्रचारक ने इससे पहले पत्रकार वार्ता को रद्द करते हुए यह घोषणा की थी कि स्वदेश लौटने के बजाए वे सऊदी अरब से अफ्रीका जाएंगे। उन्होंने चुनौती दी थी कि कोई भी उनका ‘‘गैरसंपादित'' जवाब दिखाए, जिसमें उन्होंने आत्मघाती हमलों की आलोचना नहीं की हो। नाइक का यह भी कहना है कि उन पर लगे आरोपों की जांच में शामिल होने के लिए किसी भी सरकारी एजेंसी ने उनसे संपर्क नहीं किया है।

उन्होंने कहा, ‘‘अगर कोई एजेंसी मुझसे संपर्क करती है तो मैं उसे पूरा सहयोग करने के लिए तैयार हूं।'' उन्होंने दावा किया कि वे आइपीएस अधिकारियों को भी संबोधित कर चुके हैं। देश की केंद्रीय और राज्य स्तर की एजेंसियां नाइक की तकरीरों की जांच कर रही हैं। जाकिर नाईक ने कहा कि वह इस साल भारत नहीं लौटेंगे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top