जेटली ने पेंशन कोषों सहित जापानी निवेशकों को दिया भारत में निवेश का न्योता

जेटली ने पेंशन कोषों सहित जापानी निवेशकों को दिया भारत में निवेश का न्योताgaonconnection

तोक्यो (भाषा)। आर्थिक वृद्धि को प्रोत्साहन के लिए जापान से निवेश  लाने के इच्छुक वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज जापानी प्रशासन के प्रमुख मंत्रियों से मुलाकात की। इसके साथ ही उन्होंने पेंशन कोषों को भारत के बुनियादी ढांचा विकास में भागीदार बनने के लिए आमंत्रित किया।

अपनी जापान यात्रा के दूसरे दिन जेटली ने जापान के उप-प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री तारो असो के साथ भारत में जापानी निवेशकों के लिए मौजूद अवसरों पर विचार विमर्श किया। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि वित्त मंत्री ने द्विपक्षीय आर्थिक रिश्तों को मजबूती देने के लिए व्यापक महत्व के मुद्दों पर बातचीत की।

जेटली ने जापान के आर्थिक, व्यापार एवं उद्योग मंत्री मोतो हयाशी से भी मुलाकात की। इस बैठक में जापान को भारत के विकास की कहानी में भागीदार बनाने पर चर्चा हुई। इसके अलावा उनकी स्वास्थ्य, श्रम एवं कल्याण मंत्री यासुहिसा शियोजकी तथा भूमि, बुनियादी ढांचा, परिवहन एवं पर्यटन मंत्री केइची इशी के साथ भी बैठकें हुईं। सूत्रों ने बताया कि इशी ने भारत के परिवहन एवं बुनियादी ढांचा क्षेत्रों में जापानी निवेश का भरोसा दिलाया है।

भारत अपने हालिया घोषित बुनियादी ढांचा कोष ‘राष्ट्रीय निवेश एवं बुनियादी ढांचा कोष (एनआईआईएफ)' के लिए निवेशकों की तलाश में है। इसे बुनियादी ढांचा परियोजनाओं के वित्तपोषण के लिए 40,000 करोड़ रुपए के कोष के साथ स्थापित किया जा रहा है। यह रुकी परियोजनाओं का भी वित्तपोषण करेगा। एनआईआईएफ का आंशिक वित्तपोषण निजी निवेशकों द्वारा किया जाएगा।

आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि जेटली की बैठकों में व्यापार और निवेश के द्विपक्षीय मुद्दों पर विचार विमर्श हुआ। जेटली ने कोमेइतो पार्टी आफ जापान के नेता नात्सुओ यामागुची से भी मुलाकात की।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top