झारखंड विधानसभा में क्यों हुई गांधीगीरी?

झारखंड विधानसभा में क्यों हुई गांधीगीरी?gaonconnection

रांची। झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र में पिछले तीन दिनों से लगातार जारी विपक्ष का हंगामा खत्म कराने के लिए सत्ताधारी BJP के कुछ विधायकों ने एक नायाब तरीका निकाला। 

बुधवार को भोजनावकाश के बाद सदन की कार्यवाही शुरु होने पर उन्होंने विपक्ष के नेता हेमंत सोरेन को गुलाब के फूल देकर सदन चलने देने का अनुरोध किया लेकिन फिर भी बात नहीं बनी।

बुधवार को लगातार तीसरे दिन झारखंड विधानसभा में मुख्य विपक्षी झारखंड मुक्ति मोर्चा के हंगामे के चलते जब विधानसभा की कार्यवाही नहीं चल पा रही थी तो BJP के विधायक विरंची नारायण, अमित मंडल और रामकुमार पाहन समेत आधा दर्जन विधायक विपक्ष के नेता हेमंत सोरेन के आसन तक गये और उन्हें गांधीगिरी करते हुए गुलाब के फूल भेंट किये। उन्होंने विपक्ष से विधानसभा की कार्यवाही चलने देने का अनुरोध किया लेकिन विपक्ष फिर भी नहीं पिघला।

मानसून सत्र का लगातार तीसरा दिन भी मुख्य विपक्षी झामुमो के हंगामे की भेंट चढ़ गया और सिवाय अनुपूरक बजट मांगे बिना चर्चा के पारित होने के सदन में कोई कार्यवाही नहीं हो सकी है। बाद में मीडिया से बातचीत में भाजपा विधायक विरंची नारायण ने विपक्ष की हठधर्मिता को लोकतंत्र का गला घोंटने वाला बताया।

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top