जमीन पट्टे के फालतू खर्चों पर कैग ने उठाया सवाल

जमीन पट्टे के फालतू खर्चों पर कैग ने उठाया सवालgaonconnection

नई दिल्ली (भाषा)। सार्वजनिक क्षेत्र की राष्ट्रीय केमिकल्स एंड फर्टिलाइजर्स (RCF) द्वारा विजाग पोर्ट ट्रस्ट में जमीन के पट्टे पर 9.02 करोड़ रुपए के फालतू खर्च और 2.67 करोड रुपए के ब्याज के नुकसान पर नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (कैग) ने सवाल उठाया है।

RCF के बोर्ड ने जुलाई, 2007 में विशाखापट्टनम पोर्ट ट्रस्ट (VPT) से 10 एकड़ जमीन 30 साल के लिए अधिग्रहीत करने का फैसला किया था। इस जमीन पर 80,000 टन का भंडारण क्षेत्र बनाया जाना था। कंपनी ने जनवरी, 2008 में जमीन का कब्जा लिया और जून, 2009 में VPT के साथ पट्टे के लिए करार किया।

आरसीएफ ने अप्रैल, 2009 से मार्च, 2014 के बीच कुल 9.02 करोड़ रुपए खर्च किए। रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी निर्धारित समय में सुविधाओं का विकास नहीं कर पाई जिसकी वजह से लीज या पट्टा समाप्त हो गया। कैग ने कहा कि भंडारण सुविधाओं के विकास तथा विजाग पोर्ट ट्रस्ट में पट्टे पर ली गई जमीन के प्रयोग के लिए योजना की कमी से 9.02 करोड़ रुपए का खर्च बेकार गया और इसपर 2.67 करोड़ रुपए के ब्याज का भी नुकसान हुआ।

 

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top