जन्मदिन विशेषः सोनू निगम से जुड़ी खास बातें

जन्मदिन विशेषः सोनू निगम से जुड़ी खास बातेंgaonconnection

लखनऊ। तीन साल की उम्र में अपने करियर की शुरुआत करने वाले संगीतकार सोनू निगम 30 जुलाई 2016 को अपना 43वां जन्मदिन मना रहे हैं।

हरियाणा जिले के फरीदाबाद शहर में 30 जुलाई 1973 को सोनू निगम का जन्म हुआ। उनके माता-पिता गायक थे। बचपन से ही सोनू निगम की दिलचस्पी संगीत में थी। इस दिशा में शुरुआत करते हुए उन्होंने अपने पिता के साथ महज तीन साल की उम्र से स्टेज कार्यक्रमों में हिस्सा लेना शुरू कर दिया था।

19 वर्ष की उम्र में सोनू निगम गायक बनने का सपना लेकर अपने पिता के साथ मुंबई आ गए। यहां वह जीवन यापन के लिए स्टेज पर मोहम्मद रफी के गाए गानों को अपनी आवज़ में कार्यक्रम में सुनाया करते थे। इसी दौरान प्रसिद्ध कंपनी टी-सीरीज ने उनकी प्रतिभा को पहचान कर उनके गाए गानों का एलबम 'रफी की यादें' निकाला। लगभग पांच सालों तक उन्होंने मुंबई में पार्श्वगायक बनने के लिए संघर्ष किया।

सोनू के करियर के लिए साल 1995 अहम साबित हुआ और उन्हें छोटे पर्दे पर 1999 में जी टीवी पर प्रसारित होने वाला शो 'सारेगामा' में होस्ट के रूप में काम करने का मौका मिला। इस कार्यक्रम से मिली लोकप्रियता के बाद वह कुछ हद तक अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गए।

इस बीच उनकी मुलाकात टी सीरीज के मालिक गुलशन कुमार से हुई जिन्होंने उनकी प्रतिभा को पहचान करके अपनी फिल्म 'बेवफा सनम' में पार्श्वगायक के रूप में काम करने का मौका दिया। इस फिल्म में उनके गाए गीत 'अच्छा सिला दिया तूने मेरे प्यार का' उन दिनों श्रोताओ के बीच काफी हिट हुआ। फिल्म और गीत की सफलता के बाद वह पार्श्वगायक के रूप में फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गए।

इनकी सफलता के बाद उन्होंने नई बुलंदियों को छुआ और एक से बढ़क़र एक गीत गाए। 1997 में आई 'परदेस' फिल्म में सोनू ने 'ये दिल दीवाना' गाना गाकर युवाओं के बीच क्रेज बनाया। सोनू निगम ने अपने करियर में लगभग 320 फिल्मों के लिये गीत गाए है। हिंदी के साथ-साथ कन्नड़, उड़िया, तमिल असमिया, पंजाबी, मराठी और तेलुगु फिल्मों में कई गाने गा चुके हैं और कई इंडी-पॉप एलबम भी उन्होंने बनाए हैं। यही नहीं सोनू निगम एक अच्छे एक्टर हैं और उन्होंने कुछ हिंदी फिल्मों में भी काम किया है।

2002 में फिल्म साथिया के 'साथिया' गाने के लिए सर्वश्रेष्ठ गायक का फिल्म फेयर पुरस्कार दिया गया। इसके बाद 2003 में फिल्म 'कल हो ना हो' के गीत 'कल हो ना हो' के टाइटल सॉन्ग के लिए सोनू निगम को फिल्मफेयर (2003), आइफा (2003), राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार (2004) समेत कई पुरुस्कार मिले। फिल्म 'दिल चाहता है' का 'तन्हाई' गीत युवाओं में काफी पसंद किया गया। इस गाने के सोनू निगम को स्टार स्क्रीन अवॉर्ड (2001) दिया गया।

Tags:    India 
Share it
Top