जून में बन जाएगा गोमती तट पर स्टेडियम

जून में बन जाएगा गोमती तट पर स्टेडियमगाँव कनेक्शन

लखनऊ। गोमती रिवर फ्रंट पर जून तक खेल-कूद का आनन्द उठा सकेंगे। लॉ मार्ट गोमती तट पर बन रहा स्टेडियम जून के अंत तक बन कर तैयार हो जाएगा। जिलाधिकारी राजशेखर ने सिंचाई विभाग के ईई रूप सिंह के साथ गोमती रिवर फ्रंट प्रगति कार्य का निरीक्षण किया। 

गोमती नदी के  लॉ मार्ट छोर पर 125 मीटर की एक व्यास का बन रहा स्टेडियम जून के अंत तक तैयार हो जाएगा। इसकी क्षमता 15,000 से 20,000 होगी। 200 वाहनों पार्किंग क्षमता और 30 फीट ऊंची रोशनी से जगमगाने वाले इस स्टेडियम में कई खेल गतिविधियां होगी। गोमती रिवर फ्रंट के पहले चरण 70 फीसद कार्य पूरा हो चुका है। 15.1 किलोमीटर डायाफ्राम दो किमी बनने के साथ स्टेडियम, पैदल रास्तों, साइट एम्फीथिएटर पार्किंग आदि का कार्य जून अंत पूरा कर लिया जाएगा। 

ईई सिंचाई रूप सिंह यादव ने बताया, रिवर फ्रंट में तीन रास्ते तैयार किए जा रहे, जॉगिंग पथ, साईकिल ट्रैक और पैदल पथ। शेष क्षेत्र में हरियाली और सार्वजनिक सुविधा विकसित की जाएगी। गोमती रिवर फ्रंट निर्माणाधीन 15.1 किलोमीटर डायाफ्राम का कार्य पूरा कर लिया गया है। दो किलोमीटर का साइट डेवलपमेंट का कार्य जून में अंत तक पूरा हो जायेगा। साइट डेवलपमेन्ट के तहतस्टेडियम, भ्रमण पथ एम्फी थियेटर और पार्किंग आदि शामिल है। शेष पर दो किमी डायाफ्राम पर एलडीए पार्क विकसित करेगा। 

बाएं छोर की 1.5 किमी डायफ्राम भी जून के अंत तक बन कर तैयार हो जाएगी। उन्होंने बताया, सिंचाई विभाग को सार्वजनिक सुविधाएं डायफ्राम, स्टेडियम, विकसित कर रहा है। कार्यदायी संस्थाएं तेजी से निर्माण कार्य कर रही है। जिलाधिकारी ने बताया की डायफ्राम स्टेडियम, साइट डेवलपमेन्ट और जन सुविधाओं के विकास और अन्य एम्पीथियेटर कार्यों को अलग अलग कान्ट्रक्टरों को सौंप कर तेजी से कार्य कराया जा रहा है ताकि समय से कार्य पूरा हो जाए। जिलाधिकारी ने इस दौरान सिंचाई विभाग को कूड़ा निस्तारण, सीसीटीवी लगाने और आपालकालीन नम्बर का प्रदर्शित करने के निर्देश दिए।

लखनऊ। गोमती नगर के 1090 चौराहे पर आने वालों को वाहन पार्किंग की दिक्कत नहीं होगी। सैर-सपाटे पर आने वाले लोगों अब वाहनों को सुमुचित स्थान पर वाहन  पार्क कर खान-पान और सैर-सपाटे का लुत्फ उठा सकेंगे।


 जिलाधिकारी राजशेखर ने एलडीए और स्मारक प्रबंधन समिति से शौचालय ब्लॉक में अप्रयुक्त स्थल पर पार्किंग बनाने के निर्देश दिए है। इससे स्मारक की अतिरिक्त आय भी होगी। जिलाधिकारी ने इन स्थानों पर तैनात कर्मचारियों से तैनाती अवधि के बारे में भी जानकारी ली। 

जिलाधिकारी ने शनिवार को 1090 चौराहा और समता मूलक चौराहा पर बने सार्वजनिक सुविधाओं का हाल देखा। करीब एक पखवाड़ा पहले जिलाधिकारी ने दोनों स्थानों पर किए सार्वजनिक सुविधाओं के निरीक्षण में काफी गंदगी और टॉयलेट की टोटियां टूटी-फूटी मिली थी। इसके अलावा इन सार्वजनिक स्थलों के लिए कोई सूचना पट भी नहीं गया मिला था।

इस पर उन्होंने 15 अप्रैल तक सभी सुविधाओं को दुरुस्त करने के निर्देश देते हुए दोबारा निरीक्षण करने की बात कही थी। डीएम ने शनिवार को दोबारा दोनों स्थानों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्हें जनउपयोगी सुविधा केंद्र में पानी आपूर्ति, सफाई, प्रकाश व्यवस्था दुरुस्त मिली। उन्होंने समिति से व्यवस्था को दुरुस्त रखने के साथ ही गैर जिम्मेदाराना कार्य करने वाले कर्मचारियों और अफसरों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें वेतन नहीं देने के निर्देश दिए। 

 

Tags:    India 
Share it
Share it
Share it
Top