ज्यादातर इलाकों में झूमकर बरसे बादल, नदियों ने अपनाया रौद्र रुप

ज्यादातर इलाकों में झूमकर बरसे बादल, नदियों ने अपनाया रौद्र रुपgaonconnection

लखनऊ (भाषा)। पूरे उत्तर प्रदेश में सक्रिय मानसून के चलते पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य में अनेक जगहों पर जमकर बरिश हुई। इस बारिश और बांधों से पानी छोड़े जाने के कारण राप्ती, घाघरा, बूढ़ी राप्ती और रोहिन समेत अनेक नदियों का कहर जारी है।

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र की रिपोर्ट के मुताबिक दक्षिण-पश्चिमी मानसून पूरे प्रदेश में सक्रिय है। पिछले 24 घंटे के दौरान राज्य के पश्चिमी भागों में अनेक जगहों पर बारिश हुई।

इस अवधि में मिश्रिख (सीतापुर) में सबसे ज्यादा 20 सेंटीमीटर वर्षा हुई। इसके अलावा अयोध्या (फैजाबाद) में 18, निघासन (लखीमपुर खीरी) में 16, सुलतानपुर में 12, हंडिया (इलाहाबाद) में 10, अंकिनघाट (कानपुर देहात), मऊ और चिल्लाघाट (बांदा) में सात-सात सेंटीमीटर वर्षा दर्ज की गयी।

अगले 24 घंटे के दौरान भी राज्य में अनेक जगहों पर बारिश होने का अनुमान है। कुछ जगहों पर बहुत भारी वर्षा भी हो सकती है। यह सिलसिला अगले 24 घंटे तक जारी रहने की सम्भावना है। इस बीच, समूचे राज्य में पिछले कई दिनों से हो रही वर्षा की वजह से उत्तर प्रदेश में नदियां जगह-जगह उफान पर हैं।

केंद्रीय जल आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक राप्ती नदी बलरामपुर में ख़तरे के निशान से काफी ऊपर बह रही है। बांसी (सिद्धार्थनगर), रिगौली (गोरखपुर) और बर्डघाट (गोरखपुर) में भी इसका जलस्तर लाल चिह्न से उपर है। घाघरा एल्गिनब्रिज (बाराबंकी), अयोध्या और तुर्तीपार (बलिया) में लाल चिह्न से ऊपर बह रही है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top