कार्डधारकों को नहीं मिलता राशन

कार्डधारकों को नहीं मिलता राशन

प्रतापगढ़। कई वर्षों से जिले को आपूर्ति किया जाने वाला राशन न तो बढ़ाया गया और न ही मिट्टी का तेल, जबकि जिले में पिछले कुछ वर्षों में कार्ड धारक बढ़ गए हैं।

जिला मुख्यालय से लगभग 21 किमी दक्षिण में शिवगढ़ ब्लॉक के भिखनापुर गाँव में रहने बीपीएल कार्ड धारक विमला देवी (45 वर्ष) को सरकारी कोटे से सिफऱ् दो लीटर मिट्टी का तेल मिलता है। जबकि पांच लीटर मिलना चाहिए। विमला देवी बताती हैं, ''हर महीने दो लीटर ही तेल देते हैं जो महीने भर चलाना मुश्किल हो जाता है। कोटेदार से कहो तो कहते हैं कि नहीं आया कहां से दूं।"

जिले में इस समय 707634 राशन कार्ड धारक हैं, इनमें 119919 बीपीएल और 74190 अन्त्योदय कार्डधारक शामिल हैं। बीपीएल और अन्त्योदय कार्ड धारकों को राशन में तो दिक्कत नहीं आती लेकिन उनके मिट्टी के तेल में कटौती की जाती है। वहीं एपीएल कार्ड धारकों के राशन और तेल दोनों में बराबर कटौती की जाती है।

खाद्य विभाग के अनुसार गैस कनेक्शन धारकों को तीन लीटर और जिनके पास गैस कनेक्शन नहीं है उन्हें पांच लीटर तेल देने का नियम है। जिले को 2026000 लीटर तेल मिलता है जबकि जिले में 707634 कार्ड धारक हैं, इस हिसाब से एक कार्ड धारक पर 2.8 लीटर तेल आता है। एपीएल कार्डधारकों को भी अब हर महीने 15 किलो राशन देने का नियम है लेकिन कम राशन की वजह से उन्हें नहीं मिल पाता है।

भिखनापुर गाँव के कोटेदार अमरनाथ यादव बताते हैं, ''महीने में जितना राशन आता है उसी में से प्राथमिक विद्यालय के साथ ही कार्डधारकों को भी राशन और तेल देना होता। जो हर महीने कम पड़ जाता है।"

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top