कार्यशाला से बढ़ेगा आत्मरक्षा के गुर

कार्यशाला से बढ़ेगा आत्मरक्षा के गुरगाँव कनेक्शन


लखनऊ। तीन दिवसीय सेल्फ डिफेन्स ट्रेनिंग वर्कशाप का शुरुआत बुधवार को करामत हुसैन गल्र्स डिग्री काॅलेज, (राष्ट्रीय सेवा योजना ) के संयुक्त तत्वाधान मे किया गया। 
कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य छात्राओें और युवतियो को सशक्त बनाना है। जिससे ज्यादा से ज्यादा महिलाएं व युवतियां अपने साथ होने वाली अनचाही घटनाओ के प्रति पूर्णरूप से जागरूक हो सकें। सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग मिशन आत्मरक्षा की टेनिंग विशेषज्ञ लक्ष्मी विश्वर्कमा ने कहा। उन्होंने बताया महिलाएं मानसिक व शारीरिक रूप से अपने आपको सशक्त कर सकें । हम सिर्फ उनके लिए किताबों व किसी प्रकार के भी मीडिया में लिख कर या उनके बारे में चर्चा करके उन्हे सशक्त नही बना सकते, बल्कि उन्हे शारीरिक रूप से सक्षम बनाकर उनकी आंतरिक हिम्मत को ऊपर लाकर उनके हाथो में सौपना होगा ताकि वह हर अनहोनी का डट कर मुकाबला कर सकें। कार्यशाला की शुरूआत दुआ पढ कर की गई। प्रोग्राम अॅाफिसर डॅा जहान आरा, ने कहा कि महिलाओं के पास शक्ति  है पर वह दिखती नही है अब इसकी जरूरत है हम अपनी शक्ति के द्वारा खुद को, समाज व परिवार को आर्थिक रूप से म़जबूत बना सकते है। शिक्षा के क्षेत्र में तो हम संर्घष कर चुके है अब बारी आत्मरक्षा के क्षेत्र में संर्घष करने की है। ट्रेनर ऊषा विश्वकर्मा ने कहा की हर लडकी और हर महिला को इस तरह की ट्रेनिंग लेनी चाहिए और हर क्षेत्र की महिलाओं तथा लडकिओं के लिए इस तरह का प्रशिक्षण बहुत ही आवश्यक है, लेकिन यह तभी संभव  हो सकता जब लडकियां खुद इसके लिए आगे आयें। इमेज एण्ड क्रियेशन वेलफेयर सोसाइटी के सचीव दुर्गेश पाठक के विचारो के साथ-साथ इन लड़कियों में प्रभावी लक्षण भी पैदा करने होगे ताकि ये अपनी जिम्मेदारी खुद उठा सके। साथ ही साथ यह आयोजन लगातार एक चेन की तरह पुरे उत्तर प्रदेश में चलाये जाऐगे इसकी जांकारी भी दी, जिससे इसका प्रभाव समाज में जल्द से जल्द दिखाई पडेगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top