कैराना विस्थापन: भाजपा ने समुचित कार्रवाई का वादा किया

कैराना विस्थापन: भाजपा ने समुचित कार्रवाई का वादा कियाgaonconnection

इलाहाबाद (भाषा)। उत्तर प्रदेश में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कैराना से हिन्दुओं के विस्थापन की ख़बरों से राजनीतिक तापमान बढ़ने के पूरे आसार नजर आ रहे हैं क्योंकि भाजपा ने आज इसे लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं बताया है और वादा किया है कि इस बेहद संवेदनशील मामले की पार्टी के एक दल द्वारा जांच किये जाने के बाद समुचित कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शामली जिले के कैराना इलाके से हुए विस्थापन पर गहरी चिंता जतायी है। यह वही स्थान है जहां 2013 में सांप्रदायिक दंगे हुए थे। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने आज कहा कि उनकी पार्टी ने इस मुद्दे को पूरी गंभीरता से लिया है।

गडकरी ने भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दूसरे दिन संवाददाताओं से कहा, ‘‘पार्टी अध्यक्ष ने एक समिति बनायी है। जो वहां जाएगी और स्थिति की समीक्षा करेगी। इस तरह का विस्थापन लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है। पार्टी इसके प्रति संवेदनशील है और रिपोर्ट आने के बाद समुचित कदम उठाये जाएंगे।'' सात सदस्यीय समिति में उत्तर प्रदेश के चार सांसद और तीन नेता हैं।

पूर्व भाजपा अध्यक्ष गडकरी इस प्रश्न के उत्तर को टाल गये कि समाजवादी पार्टी सरकार ने यह दावा किया कि कई हिन्दू काफी पहले ही कैराना से विस्थापित हो गये थे और उनमें से कुछ तो अब मर चुके हैं। गडकरी ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष इस मामले पर प्रतिक्रिया दे चुके हैं। उन्होंने अपनी बात दोहरायी, ‘‘पार्टी इस मुद्दे पर संवदेनशील है तथा समुचित कार्रवाई की जाएगी।''

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top