कैसे शुरू होगा नया शिक्षा सत्र?

कैसे शुरू होगा नया शिक्षा सत्र?गाँवकनेक्शन

लखनऊ। नए सत्र के एक अप्रैल से शुरू होने के फरमान से शिक्षकों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। बोर्ड परीक्षाएं 14 मार्च से शुरू होकर 21 मार्च को खत्म होंगी और उसके तुरंत बाद नया सत्र लागू करना शिक्षकों के लिए परेशानी का सबब बन चुका है।   

लखनऊ जिला मुख्यालय से लगभग 12 किमी दूर विवेकानंद इंटर कॉलेज के अध्यापक सुशील कुमार बताते हैं, “इस बार बोर्ड की परीक्षाएं जल्दी शुरू हुईं थीं क्योंकि नया सत्र सीबीईसई पैटर्न पर शुरू करने का आदेश था लेकिन इसकी कोई तैयारी नहीं की गई। अब 21 तक परीक्षाएं चलेंगी और उसके बाद होली की छुट्टियां हो जाएगी। 27 मार्च से कॉपियों का मूल्यांकन शुरू होगा। ऐसे में एक अप्रैल से कक्षाएं शुरू करना मुश्किल होगा।” इसका कारण बताते हुए वो कहते हैं, “बच्चों में भी वो उत्साह नहीं होगा, तुरंत परीक्षाएं खत्म होंगी और अध्यापक भी व्यस्त होंगे, ऐसे में तुरंत नई कक्षा में पढ़ऩे वाला ही कोई न होगा तो पढ़ाया किसे जाएगा।”

इन सब कारणों से शिक्षक नए सत्र की मांग अप्रैल से न करके जुलाई से करने की मांग कर रहे हैं। दूसरी तरफ ग्रामीण क्षेत्रों में भी कृषि से जुड़े़ लोगों के लिए नया सत्र शुरू होना भी परेशानी खड़ी करेगा। लखनऊ से लगभग 10 किमी दूर कुर्सीरोड के अनवारी गाँव के रहने वाले राजकिशोर (42 वर्ष) बताते हैं, “ अप्रैल का महीना हम किसानों के लिए तंगी और व्यस्त दोनों वाला होता है। ऐसे में खेतीबाड़ी में व्यस्त रहेंगे, बच्चे भी थोड़ी मदद कर देते थे अब कहां तुरंत फिर पैसा जमा करके नाम लिखाएंगे। पहले वाला ही नियम सही था।” 

विद्यार्थियों में प्रवेश कराने के संबंध में प्रधानाचार्यों को निर्देश दिए जा चुके हैं लेकिन शिक्षक नए नियम के खिलाफ विरोध कर रहे हैं। इस बारे में माध्यमिक शिक्षा परिषद के निदेशक अमरेन्द्र कुमार बताते हैं, “नये सत्र को अप्रैल में शुरू करने को लेकर शिक्षकों में विरोध है लेकिन ये शासन का आदेश है जब तक वहां से कोई आदेश नहीं आता, हम सभी को इसी नियम का पालन करना होगा। हालांकि थोड़ा मुश्किल हो रहा है या तो परीक्षाएं और पहले खत्म होती और दूसरा होली की भी छुट्टी पड़ रही है। तीन दिन में नए सत्र की तैयारी करना शिक्षकों के लिए थोड़ा मुश्किल होगा।” 

Tags:    India 
Share it
Top