केजरीवाल व्यक्तिगत हित के लिए मोदी से भी हाथ मिला सकते हैं: भूषण

केजरीवाल व्यक्तिगत हित के लिए मोदी से भी हाथ मिला सकते हैं: भूषणgaonconnection

वॉशिंगटन (भाषा)। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर पूरी तरह बेईमान होने का आरोप लगाते हुये उनके मित्र से विरोधी बने प्रशांत भूषण ने दावा किया है कि आम आदमी पार्टी के नेता व्यक्तिगत हित के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी हाथ मिला सकते हैं।

अमेरिका के निजी दौरे पर आए भूषण ने भारतीय-अमेरीकियों और भारतीयों के एक समूह को सोमवार रात संबोधित करते हुये कहा, ''केजरीवाल पूरे बेइमान हैं, जिस दिन उन्हें रास आए वो मोदी से हाथ मिला लेंगे। मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है।''

भूषण की ये टिप्पणी ऐसे समय में आयी है जब केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार और मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के बीच पिछले एक साल से अधिक समय में कई मुद्दों पर टकराव देखने को मिला है।

पिछले साल आम आदमी पार्टी से निकाले जाने के बाद योगेन्द्र यादव के साथ स्वराज अभियान की नींव रखने वाले भूषण ने कहा कि केजरीवाल की इस फितरत के बारे में उन्हें पहले पता नहीं चल पाया इसका उन्हें अफसोस है।

उन्होंने कहा, ''उन्होंने मेरे और योगेन्द्र जैसे लोगों का इस्तेमाल विश्वसनीयता बढ़ाने के लिए किया और इस दौरान उन्होंने ये भी सुनिश्चित किया कि आप के निर्णय लेने वाले निकायों में उनका बहुमत हो ताकि वो अपने एजेंडे के साथ आगे बढ़ सकें।'' एक सवाल के जवाब में भूषण ने आरोप लगाया कि केजरीवाल की दिलचस्पी भ्रष्टाचार से लड़ने में नहीं है।

Tags:    India 
Share it
Top