खाली पड़ा पीएचसी का दवाखाना

खाली पड़ा पीएचसी का दवाखानाgaonconnection

लखनऊ। सरकार की लाख कोशिशों के बावजूद लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा नहीं मिल पा रही है। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में दवा का स्टाक ही नहीं है, जिससे वहां पर आए मरीजों को बाहर से दवा लेनी पड़ती है।

यहां तक कि तीन-चार महीने से एंटी रेबीज इंजेक्शन की भी आपूर्ति नहीं हुई है, जिससे यहां इलाज के लिए आने वाले मरीजों को प्राइवेट अस्पताल में इलाज करना पड़ता है।

जिला मुख्यालय से 45 किमी. दूर माल ब्लॉक के अंतर्गत आने वाले पकरा बाजारगाँव में बने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में दवाओं का स्टाक नहीं है। जिस कारण मरीजों को दवाएं बाहर से लेनी पड़ती हैं।

प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पकरा बाजारगाँव खुद सुविधाओं के लिए मोहताज है। स्वास्थ्य केन्द्र में गंदगी का अम्बार लगा है। स्वास्थ्य केन्द्र में चारों तरफ अव्यवस्थाएं फैली हुई हैं, जिससे वहां पर आए मरीज और उनके परिजनों को बहुत दिक्कतें हो रही हैं।

जिला चिकित्सालय द्वारा हर माह दवाओं की मांग और आपूर्ति के संबंध में जिले के सभी अस्पतालों से जानकारी मांगी जाती है। उसी के अनुपात में हर माह दवा का खेप संबंधित अस्पताल को भेजा जाता है।  

बाजारगाँव के रहने वाले विनय रस्तोगी (35 वर्ष) बताते हैं, “सरकार की तरफ से मुफ्त दवा दी जाती है, लेकिन इस अस्पताल में मरीजों को दवा नहीं मिल पाती है। यदि मरीजों की समस्या का समाधान यहां हो जाता तो फिर कोई समस्या की बात ही नहीं थी।”

गुमसेना गाँव के निवासी मरीज श्यामू मरीज (52 वर्ष) बताते हैं, “सरकारी अस्पतालों में सभी दवाएं नहीं मिल पाती हैं। एक दिन की भी दवा अस्पताल से पूरी नहीं दी जा रही है। आधी दवा देकर टाल देते हैं और कहते हैं कि जो दवा नहीं मिली वह बाहर से ले लो।”

रिपोर्टर - सतीश कुमार सिंह

Tags:    India 
Share it
Top