7000 वर्षों से किसान उगा रहे हैं आलू 

7000 वर्षों से किसान उगा रहे हैं आलू potato cultivation

लखनऊ। आलू भारत की सबसे महत्वपूर्ण फसलों में से एक है। यही कारण है कि आलू को सब्जियों का राजा कहा जाता है। यह जानकार आप हैरान होंगे कि किसान आज से लगभग 7000 हजार वर्षों पहले से आलू उगाते आ रहे हैं। भारत में शायद ही कोई ऐसा रसोई घर हो जहां पर आलू न पकाया जाता हो। आइये आपको आलू से जुड़े कुछ और रोचक तथ्य बताते हैं, जिन्हें शायद ही आप जानते हों।

लगभग पूरे देश में होती है आलू की खेती

आलू की खेती लगभग-लगभग पूरे देश में होती है। तमिलनाडु और केरल को छोड़ दें तो आलू की खेती भारत के हर राज्य में होती है। जमीन के नीचे उगने वाले आलू सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश में ही उगाया जाता है। वहीं, दुनिया की बात करें तो आलू के उत्पादन में चीन और रूस के बाद भारत तीसरा ऐसा देश है, जहां सबसे ज्यादा आलू उगाया जाता है।

तब लोकप्रिय बन गया आलू

अमेरिकी वैज्ञानिकों के एक शोध की मानें तो लगभग 7000 वर्ष पहले आलू का घरेलू प्रयोग मध्य पेरु में होता था। यह भी कहा जाता है कि सबसे पहले कैरेबियन में आलू की खेती की गई। तब वहां आलू "कमाटा" और "बटाटा" के नाम से प्रसिद्ध था। इसके बाद सोलहवीं शताब्दी में यह "कमाटा" स्पेन पहुंचा और वहीं पर ही आलू की खेती होने लगी। फिर स्पेन ने दक्षिण अमेरिकी उपनिवेशों से आलू को यूरोप पहुंचाया। यूरोप में पहुंचने पर आलू का नाम "बटाटा" से "पटाटो" हो गया। बाद में इंग्लैंड जाकर आलू "पोटाटो" (patato) हो गया। इसके बाद पूरे एशिया में आलू की खेती होने लगी। आज भी आयरलैंड और रूस की अधिकांश जनता आलू पर ही निर्भर है। भारत में यह सबसे लोकप्रिय सब्जी है।

potato cultivation

और तब पोटाटो से बना आलू

एक मान्यता यह भी है कि आलू भारत में 17वीं शताब्दी के अंतिम दौर में पहुंचा। ब्रिटिश व्यापारियों ने उस समय कोलकाता के आसपास के इलाकों में आलू को बेचना शुरू किया और उसी दौरान पोटाटो का हिंदी नाम आलू पड़ गया। बताते हैं कि नैनीताल के पहाड़ी इलाकों में आलू की खेती शुरू कर दी और आलू दिनों दिन तेजी के साथ लोकप्रिय होता चला गया।

Share it
Top