वन विभाग की लापरवाही से सूखे हरित पट्टी के 72 पेड़

वन विभाग की लापरवाही से सूखे हरित पट्टी के 72 पेड़शीशम के सूखते पेड़।

संतोष सिंह, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

लखनऊ। पिछली सरकार के कार्यकाल में पौधारोपण के लिए खास अभियान चलाए गए थे और पौधे लगाए गे थे लेकिन ये वन विभाग की लापरवाही ही है कि उसने पौधों की कोई सुध न ली और पौधे सूख गए। पौधों के साथ प्रोजेक्ट पर लगे लाखों रुपयों पर भी पानी फिर गया।

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

लखनऊ जिला मुख्यालय से 16 किमी. दूर काकोरी ब्लॉक के पारा में कानपुर रिंग रोड पर हरित पट्टी प्रोजेक्ट पर लाखों का बजट स्वीकृत कर अभियान चलाया गया था। 2012 में सपा सरकार के दौरान वृक्षारोपण कराया गया था। उसी हरितपट्टी में वन विभाग की लापवाही दिखी और छह दर्जन शीशम के पेड़ सूख गए। इस बारे में वन रक्षक शंकर सिह बताते हैं, “हरितपट्टी की देखरेख और सिंचाई समय-समय पर होती है और वन विभाग की पूरी टीम लगी है। सिंचाई के लिए इंजन लगा कर हरित पट्टी में पानी भरा गया था।”

वन रक्षक का कहना है कि जनवरी में पानी भरा गया था और इस समय जो पेड़ सूख रहे हैं वो नए सिरे से बदले जाएंगे। गर्मी की वजह से शीशम के पेड़ काफी मात्रा में सूख गए हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top