उन्नाव में भी सब्जी के राजा को नहीं मिल रहे खरीददार, मंडियों के चक्कर लगा रहे किसान

उन्नाव में भी सब्जी के राजा को नहीं मिल रहे खरीददार, मंडियों के चक्कर लगा रहे किसान300 रुपये प्रति कुंतल के थोक रेट में बिक रहा सब्जियों का राजा

उन्नाव। सब्जियों के राजा कहे जाने वाले आलू ने इन दिनों माटी मोल बिक रहा है। आलू की बंपर पैदावार ने किसानों को लाभ देने के बजाए किसानों को तगड़ा झटका दिया है। बाजार में तीन सौ रुपये कुंतल की दर से आलू बिक रहा है। थोक बाजार में भाव गिर जाने से अन्नदाता को लागत निकालना मुश्किल होता जा रहा है।

जिले में पिछले सीजन में 1 लाख 6 हजार 731 टन आलू की पैदावार हुई थी। इस बार पैदावार का लक्ष्य लगभग 176650 टन का रखा गया है। उद्यान विभाग के अनुसार जनपद में इस बार 10450 हेक्टेअर क्षेत्रफल में आलू की बुआई की गई थी। अब फसल तैयार होने पर किसानों ने आलू को खोदना शुरू कर दिया है।

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

होली से पूर्व आलू की खुदाई शुरू के साथ उसका भाव एकदम जमीन पर आ टिका है। बाजार में थोक रेट तो 300 रुपये प्रति कुंतल तक चल रहे हैं। फुटकर में तीन रुपये से चार रुपए किलो के रेट पर आलू बिक रही है। रेट कम मिलने के कारण अधिकांश किसान अब आलू खोदकर कोल्ड स्टोरेज में रखने जा रहे हैं। इसके चलते शीतालयों के बाहर आलू के बोरे लदे ट्रैक्टर ट्राली आसानी से देखे जा सकते हैं।

मौजूदा समय में इस समय आलू की खुदाई चालू हो चुकी है। एेसे में अभी उत्पादन का पूरा आंकड़ा नहीं आ पाया है लेकिन जानकार पिछली बार की अपेक्षा ज्यादा पैदावार होने की उम्मीद जता रहे हैं। उद्यान विभाग के अधिकारियों ने भी इस बार आलू का रिकार्ड उत्पादन होने की बात कही हैजिला उद्यान अधिकारी डा$ शैलेंद्र शुक्ला ने बताया कि लक्ष्य के सापेक्ष इस बार भी आलू का उत्पादन होगा।

हालांकि आलू की खुदाई चालू होने से अभी तक पूरा आंकड़ा नहीं पाया है। जिले में कुल कोल्डस्टोरेज की संख्या 18 है। इनकी भंडारण क्षमता 131075 मीट्रिक टन है। जिला उद्यान अधिकारी के मुताबिक, कुल उत्पादन का करीब 25 से 30 प्रतिशत आलू बाजार में बिक्री के लिए रहता है। शेष का भंडारण करने के लिए जिले में पर्याप्त शीतालय हैं। जिला उद्यान अधिकारी डा$ शैलेंद्र शुक्ला की मानें तो होली के बाद आलू के रेट बढ़ सकते हैं। क्योंकि मौजूदा समय में अधिकांश किसान अपनी उपज कोल्डस्टोरेज में भंडारित करने में लगे हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

First Published: 2017-03-02 16:48:47.0

Share it
Share it
Share it
Top