खरीफ सीजन में किसानों को सस्ते दाम पर मिलेंगे हाईब्रिड बीज

खरीफ सीजन में किसानों को सस्ते दाम पर मिलेंगे हाईब्रिड बीजबीजों के दाम में 10 फीसदी की कमी कर दी गई है

लखनऊ। खरीफ सीजन में धान, मक्का, ज्वार, बाजरा, तिल, उर्द, मूंग, अरहर, मूंगफली, तिल और सोयाबीन जैसी फसलों की बुवाई करने वाले किसानों के लिए राहत की खबर है। इन फसलों के संकर बीजों के दामों में 10 प्रतिशत की कमी कर दी गई। इसके अलावा किसानों को बड़ी मात्रा में सरकार की तरफ से सब्सिडी पर बीज भी उपलब्ध कराया जा रहा है।

केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने इस संबंध में बीज कंपनियों के साथ एक बैठक बुलाई थी जिसके बाद कंपनियों ने स्वैच्छिक आधार पर 10 प्रतिशत कटौती करने का निर्णय किया। उन्होंने कहा कि हमने बीज उद्योग से किसानों के हित में संकर बीजों के दाम कम करने को कहा था। वह इस पर सहमत हो गए हैं। उन्होंने ट्वीट करके भी इसकी जानकारी दी।

किसान 21 जून से घटे हुए दाम पर संकर बीज खरीद सकते हैं। अगर कोई निजी दुकानदार या बीज विक्रेता किसानों को इस रेट पर संकर बीज नहीं देता है तो किसान संबंधित जिले के जिला कृषि अधिकारी के पास अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। उत्तर प्रदेश में किसान सेवा केन्द्र, साधन सहकारी समितियों के अलावा खुदरा और थोक में निजी बीज दुकानों से किसान बीज खरीदते हैं।

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में घट सकती है धान की खेती

उत्तर प्रदेश में बीज के व्यापार पर निजी कंपनियों का कब्जा है। संकर बीजों के मामले में तो उनका एकाधिकार है। संकर बीज के कुल व्यापार पर 80 प्रतिशत से ज्यादा निजी कंपनियों का कब्जा है। ये कंपनियां संकर बीज के नाम पर बीजों की कीमत किसानों से बहुत ज्यादा वसूलती हैं लेकिन राज्य के पास किसानों की मांग पूरी करने के लिए उतना बीज उपलब्ध नहीं है।

सरकारी एजेंसी हर साल किसानों की लगभग 30 प्रतिशत बीज की मांग पूरी कर पाती है। 70 प्रतिशत किसान निजी बीज कंपनियों पर निर्भर रहते हैं। लिहाजा किसानों को निजी बीज कपंनियों से बीज खरीदने की मजबूरी होती है। हालांकि कृषि विभाग का दावा है कि प्रदेश में हर जिले में बिक्री केन्द्र पर उत्तम के बीज बिक्री के लिए उपलब्ध हैं। उत्तर प्रदेश कृषि विभाग की तरफ से किसानों को प्रमाणित बीज उपलब्ध कराने के लिए प्रदेशभर में 28,264 दुकानदारों और 700 कंपनियों को बीज बेचने का लाइसेंस दिया गया है।

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश की नहरों में नहीं हो रही सफाई, कहीं पाटकर बनाए जा रहे मकान तो कहीं हो रही खेती

उत्तर प्रदेश में इस साल खरीफ सीजन में किसान उच्च गुणवत्ता के बीजों की बुवाई कर सके इसके लिए कृषि विभाग ने किसानों के बीच विभिन्न फसलों का 854983 कुंतल प्रमाणित बीज वितरित करने का फैसला किया है जिसमें धान का 681000 कुंतल बीज, मक्का 15000 कुंतल, ज्वार 4000 कुंतल, बाजरा 1750 कुंतल, उर्द 40640 कुंतल, मूंग 8500 कुंतल, अरहर 21850 कुंतल, मूंगफली 20250 कुंतल, तिल 3900 कुंतल और सोयाबीन 5100 कुंतल बीज देने की घोषणा की है।

Share it
Top