किसानों ने जाने आधुनिक तकनीक के तरीके

Pankaj TripathiPankaj Tripathi   9 Jun 2017 3:49 PM GMT

किसानों ने जाने आधुनिक तकनीक के तरीकेकिसान मेले में वार्ता करते अधिकारीगण

गाजियाबाद। किसानों की आमदनी कैसे दोगुनी हो इसके लिए भोजपुर ब्लाक के कनकपुर गॉव में किसान मेले का आयोजन कृषि विभाग द्वारा किया गया। इस मेले में किसानों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। इस कृषि मेलें में आस पास के किसानों के साथ साथ कृषि वैज्ञानिक, कृषि विभाग के आला अधिकारीगण, क्षेत्रीय विधायिका और किसान नेता भी मौजूद रहे।

मेले में आए किसानों ने अपनी समस्याओं के बारें में विस्तार से चर्चा की और खेती से जुड़े आधुनिक तकनीक के बारे में कृषि विशेषज्ञों से जानकारी ली। कृषि मेले में आए युवा किसानों को सरकार की कृषि स्वावलंबन योजना के बारे में विस्तार से बताया कि कैसे बीएससी एजी पास करने वाले युवा किसान इस योजना के माध्यम से 3.5 लाख रुपए लेकर अपना कारोबार शुरू कर सकता है। इसका जो भी ब्याज होगा वो सरकार वहन करेगी। इसके साथ में खाद, बीज और पेस्टिसाइड का लाइसेंस भी युवाओं को दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें- सरकारी हैचरी में बीज न मिलने के कारण किसान महंगा बीज लेने को मजबूर

उप कृषि निदेशक हरेन्द्र मिश्रा ने बताया, “कृषि विभाग पूरी तरह से डिजिटलाइज हो गया है। किसानों को डीबीटी के माध्यम से सीधे उनके अकाउंट के माध्यम से सब्सिडी दी जा रही है। डिजिटल तकनीक ने दलालों बिचैलियों का खेल अब खत्म हो गया है। बारह देशों के कृषि वैज्ञानिकों के साथ प्रधानमंत्री मोदी किसानों की समस्याओं के निदान के लिए काम कर रहे हैं।”

क्षेत्रिय विधायिका डा. मंजू शिवाच ने बताया,“ प्रदेश की योगी सरकार और केंद्र की सरकार किसानों को लेकर बहुत सक्रीय है। किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है और आगे भी करती रहेगी। किसान अन्नदाता है और हमारी सरकार का प्रथम लक्ष्य किसानों की खुशहाली है।”

मेले में आए किसान रामफल (64वर्ष) ने बताया, “ मुझे पहली बार इस तरह की जानकारी मिली है। कृषि मेले का आयोजन होते रहना चाहिए। ”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top