खेती किसानी

गेहूं क्रय करने के लिए समिति का गठन

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। गेहूं खरीद में किसानों को होने वाली परेशानी दूर करने के लिए जिले में समिति का गठन किया गया है, जिससे किसानों को कोई परेशानी नहीं होगी।

जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी समिति के बारे में बताते हैं, “मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत व्यवस्था की गयी है कि किसान का गेहूं मानक के अनुरूप न होने के कारण यदि क्रय केन्द्र पर क्रय नहीं हो पा रहा है, तो उस किसान का नाम व मोबाइल नम्बर ले लिया जाए और एक रजिस्टर व्यवस्थित कर उसमें गेहूं क्रय न होने का स्पष्ट कारण लिखा जायेगा।”

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

समिति द्वारा 48 घण्टे में ऐसे प्रकरण का निस्तारण किया जाएगा और समिति द्वारा लिया गया निर्णय सभी को मान्य होगा तथा जिला खाद्य विपणन अधिकारी द्वारा कार्यालय में एक रजिस्टर व्यवस्थित का ऐसे सभी मामलों को लिखा जाएगा। 
जीएस पि्रयदर्शी, जिलाधिकारी लखनऊ

ऐसे मामलों के निस्तारण के लिए जिला खाद्य विपणन अधिकारी की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया है। मण्डी सचिव यदि गेहूं मण्डी समिति में अस्वीकृत किया गया तो मण्डी सचिव, जिला कृषि अधिकारी द्वारा नामित किसान तथा सम्बन्धित कृषक जिसका गेहूं अस्वीकृत किया गया है समिति के सदस्य होगें।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।