किसानों के लिए खुशखबरी, अब सस्ते बीज के लिए भटकना नहीं होगा

Ashwani NigamAshwani Nigam   6 May 2017 7:04 PM GMT

किसानों के लिए खुशखबरी, अब सस्ते  बीज के लिए भटकना नहीं होगाकिसानों के लिए खुशखबरी, अब सस्ते बीज के लिए भटकना नहीं होगा। (फोटो- विनय गुप्ता)

लखनऊ। खरीफ सीजन में धान, मक्का, ज्वार, बाजरा, मूंग, अरहर, तिल, सोयाबीन और मूंगफली की बुवाई के लिए खेत की तैयारी कर रहे किसानों को इस बार सस्ते और अच्छे बीज आसानी से मिल जाएंगे। उत्तर प्रदेश कृषि विभाग की तरफ से किसानों को सब्सिडी के साथ 55 हजार कुंतल बीज का वितरण किया जाएगा। प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने बताया ''खरीफ की बुवाई में किसानों को बीज के लिए कोई समस्या न हो इसके लिए कृषि विभाग ने अनुदान पर किसानों को प्रमाणिक बीज उपलब्ध कराने का फैसला किया किया है। 10 मई से किसानों को बीज मिलना शुरू हो जाएगा, इसके लिए संबंधित विभागों आदेश दे दिया गया है।'' प्रदेश में किसानों को सब्सिडी के साथ पहली बार इतने बड़े स्तर पर बीज वितरित किया जाएगा।

ये भी पढ़ें- शाहजहांपुर और बदायूं जिले में बनाया जा रहा दलहन बीज उत्पादन केंद्र

मानसून के आते ही 15 जून के बाद उत्तर प्रदेश में खरीफ फसलों की बुवाई शुरू हो जाएगी। किसान इसके लिए तैयारियों में लग गए हैं। कृषि विभाग खरीफ अभियान में प्रदेश में खरीफ फसलों की बुवाई का क्षेत्रफल बढ़ाने के लिए योजना बनाकर काम करना शुरू कर दिया है। प्रदेश में इस बार 60 लाख हेक्टेयर में धान बुवाई का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। पिछले सीजन में 5960.754 हजार हेक्टेयर में धान की खेती हुई थी।

पिछले सीजन में मक्का की बुवाई 781.351 हजार हेक्टेयर, ज्वार की 206.141 हजार हेक्टेयर, बाजरा की 977.861 हजार हेक्टेयर, मूंग की 48.694 हजार हेक्टेयर, अरहर की 353.077 हजार हेक्टेयर, मूंगफली की 96.369 हजार हेक्टेयर, सोयाबीन की 35.694 हजार हेक्टेयर और तिल की 430.55 हजार हेक्टेयर में बुवाई हुई थी। कृषि विभाग ने बीज, खाद और दूसरी सुविधाएं देकर फसल की बुवाई का रकबा बढ़ाने की तैयारी कर रही है।

ये भी पढ़ें- गन्ने की बढ़िया फसल के लिए खेत-खेत जाएंगे अफसर

किसानों को दिए जाने वाले बीज में किसी प्रकार की गड़बड़ी न हो और उन्हें प्रणाणिक बीज मिले इसकी जिम्मेदारी मंडल स्तर पर संयुक्त कृषि निदेशक और जिला स्तर पर जिला कृषि अधिकारी को दी गई है। किसानों को वितरित किए जाने वाले बीजों की जांच 10 मई तक कराने के लिए आदेश दिया गया है।

ये भी पढ़ें- जलभराव वाले क्षेत्रों में धान बुवाई का ये उचित समय

किसानों को बीज न्याय पंचायत स्तर पर स्थित साधन सहकारी समितियो, किसान सेवा केन्द्र, ब्लाक कार्यायल और जिला कृषि केन्द्र से मिलेगा। उत्तर प्रदेश कृषि विभाग के निदेशक ज्ञान सिंह ने बताया '' किसानों का अनुदान पर दिए जाने वाले बीज की उपलब्धता को लेकर हर सप्ताह समीक्षा बैठक भी की जाएगी। '' कृषि विभाग की तरफ से यह भी आदेश हुआ है कि किसानों के अनुदानित बीजों के अलावा गैर अनुदादित बीजों की भी व्यवस्था की जाए।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top