खेती में नई जान फूंकने के लिए साथ अाए India और UK, 500 करोड़ रु से ज्यादा का करार

खेती में नई जान फूंकने के लिए साथ अाए India और UK, 500 करोड़ रु से ज्यादा का करारभारतीय खेती की दशा सुधारने को युनाइटेड किंगडम और भारत के बीच समझौता।

भारत और युनाइटेड किंगडम के बीच खेती में नई जान फूकने के लिए एक समझौता किया गया है। इस समझौते के तहत दोनों देशों के संबंधित विभाग 500 करोड़ रुपए से ज्यादा का साझा निवेश करेंगे।

भारत के बायोटेक्नोलॉजी विभाग और युनाइटेड किंगडम की शोध परिषदों (डीएफआईडी व इनोवेट) के बीच हुए इस समझौते का मुख्य उद्देश्य खेती में सुधार के ज़रिए नए रोज़गार के अवसरों को बनाना और गरीबी हटाना है।

कुल 517 करोड़ रुपए के निवेश से दोनों देश भारत में फसल और खेती विज्ञान पर शोध को तेज़ करने पर ज़ोर देंगे। मिट्टी में नाइट्रोजन और पोषक तत्वों की मात्रा बढ़ाने के तरीकों पर मंथन किया जाएगा। पशुपालन के लिए ज़रूरी पशुओं की बीमारियों और उनके सेहत पर शोध होगा। मछली और झींगा जैसी उत्पादनों को बढ़ावा देने के साथ ही इन्हें आम किसानों की पहुंच में लाने के प्रयास किये जाएंगे। फसल उत्पादन के बाद की कटाई और रखरखाव की तकनीकियों को भी सुधारा जाएगा।

इस समझौते का एक पहलू यह भी है कि केम्ब्रिज और भारत एक साझा केंद्र की स्थापना करेंगे जिसका उद्देश्य फसलों के उन्नत विज्ञान पर शोध के साथ-साथ किसानों तक हर जानकारी पहुंचाना भी होगा।

Share it
Top