पशुधन आरोग्य योजना से सुधरेगी पशुओं की सेहत

पशुधन आरोग्य योजना से सुधरेगी पशुओं की सेहतपशुपालकों को बड़ी राहत देते हुए प्रदेश सरकार पशुधन आरोग्य योजना शुरू करने जा रही है

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। अभी तक पशुपालकों को पशुओं की दवाएं खरीदने के लिए हजारों रुपए खर्च करने पड़ते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। पशुपालकों को बड़ी राहत देते हुए प्रदेश सरकार पशुधन आरोग्य योजना शुरू करने जा रही है। इस योजना की मदद से पशुओं की नि:शुल्क दवाएं मिलेंगी।

उत्तर प्रदेश पशुधन विकास परिषद् के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. बीबीएस यादव बताते हैं, “ज्यादातर दवाएं पशुचिकित्सालयों में नहीं मिलती हैं, जिस कारण पशुपालकों को प्राइवेट मेडिकल स्टोर जाना पड़ता है। इस योजना से दवाओं का बजट आएगा और अस्पतालों में दवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।”

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

पहले पशुओं के इलाज के लिए 10 करोड़ का बजट आता था, लेकिन अब इस योजना के लिए 200 करोड़ का बजट बनाया गया है। अगर यह बजट सरकार देगी तो इससे पशुपालकों को काफी लाभ होगा।
डॉ. बीबीएस यादव, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, पशुधन विकास परिषद्

हाल ही में हुई बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पशुधन विभाग का प्रस्तुतीकरण देखने के बाद इस योजना की घोषणा की थी। बैठक में कहा था कि इस योजना में गंभीर से गंभीर रूप से बीमार पशुओं का नि:शुल्क इलाज होगा। इसमें एक पशु पर अगर एक लाख रुपए का भी खर्चा आएगा तो सरकार इसको वहन करेगी। 19वीं पशुगणना के अनुसार, उत्तर प्रदेश में कुल चार करोड़ 75 लाख पशुधन हैं। इस योजना के तहत इन सभी पशुओं को नि:शुल्क इलाज हो सकेगा।

बरेली जिले के भोजीपुरा ब्लॉक के खतौला हुलास गाँव में रहने वाले आशुतोष वर्मा (30 वर्ष) पिछले पांच वर्षों से डेयरी चला रहे हैं। आशुतोष बताते हैं, “यदि दवाओं का खर्चा जोड़ें तो साल में हजारों रुपए खर्चा हो जाते हैं, क्योंकि पशु अस्पतालों में दवाएं मिलती ही नहीं हैं।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top