आम की फसल में भुनगा और सफेद गुजिया कीट से खतरा

आम की फसल में भुनगा और सफेद गुजिया कीट से खतराकिसानों को आम के उत्पादन के कम रहने का डर सता रहा है।

स्वयं प्रोजेक्ट डेस्क

लखनऊ। इस समय वातावरण में गर्मी का प्रकोप बढ़ने से आम की फसल में भुनगा और सफेद गुजिया कीट का प्रभाव पड़ रहा है। इसके चलते बागवानी किसानों को आम के उत्पादन के कम रहने का डर सता रहा है।

लखनऊ जिले के कुर्सी रोड पर भगतपुर्वा गाँव के किसान राकेश कुमार यादव (48 वर्ष) डेढ़ बीघे में आम की खेती कर रहे हैं। पिछले वर्ष की तुलना में इस बार आम की पैदावार कम होगी। आम के पेड़ की ओर इशारा करते हुए राकेश कुमार बताते हैं, “इस बार आम कम हुआ है। गर्मी पड़ने से आम के बौरों में भुनगा लगना शुरू हो गया है, फलों पर गुजिया कीड़ा हो रहा है। इससे फल दागदार हो रहे हैं।”

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उत्तर प्रदेश में 250 हजार हेक्टेयर से ज्य़ादा रकबे पर आम की खेती होती है। भारत विश्व के सबसे बड़े आम निर्यातक देशों में से है लेकिन पिछले कुछ वर्षों में अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में आम के निर्यात को धक्का लगा, कारण था भारतीय आम में कीटनाशक के अवशेषों की बहुत अधिक मात्रा का होना है।

उत्तर प्रदेश में आम की फसल की मौजूदा स्थिति पर उद्यान एवं खाद प्रसंस्करण विभाग उत्तर प्रदेश के निदेशक एसपी जोशी ने गाँव कनेक्शन को बताया, “पिछले वर्ष की तुलना में इस बार आम की पैदावार कम हुई है, लेकिन फल का आकार बड़ा है। इस कारण इस मौसम में सफेद गुजिया कीट और भुनगा कीटों का प्रकोप स्वाभाविक है।”

बढ़ती गर्मी के कारण आम की फसल में सफेद गुजिया और भुनगा कीट का खतरा बढ़ गया है। सफेद गुजिया कीट ज़मीन से निकलकर पेड़ों पर चढ़ जाते हैं। यह कीट सबसे पहले पत्तियों को अपना शिकार बनाते हैं, फिर बौर के आते ही फसल के फूलों का रस चूस लेते हैं और बौरों को खराब कर देते हैं। यह कीट हल्के लाल व सफेद रंग के होता है व इसकी लंबाई तीन से चार मिमी की होती हैं।

सूख रहीं पत्तियां और बौर

अमेठी जिले के गौरीगंज कस्बे में 25 एकड़ में आम की खेती कर रहे किसान तेजभान सिंह (70 वर्ष) बताते हैं, उनकी बाग के लगभग आधे पेड़ों में भुनगा रोग का प्रकोप है। तेजभान सिंह ने बताया, ‘मेरे आधे बाग के पेड़ों में भुनगा लगा हुआ है, जिससे कई पेड़ों की पत्तियां और बौर सूख गए हैं। लेबर लगवाकर पत्तियों से भुनगा हटवाना पड़ रहा है।’

भुनगा कीट आम की फसल को पहुंचा रहे नुकसान

भुनगा कीट आम की फसल को सबसे अधिक क्षति पहुंचाती है। इस कीट के लार्वा एवं वयस्क कीट कोमल पत्तियों और फूलों का रस चूसकर इसे खराब कर देते हैं। भुनगा कीट की मादा लार्वा 100 से 200 की संख्या में अंडे नई पत्तियों व बोरों में देती है। इनका जीवन चक्र 12-22 दिनों में पूरा हो जाता है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top