प्याज ने मारी हाफ सेंचुरी, अन्य सब्जियों के दाम भी आसमान पर

प्याज ने मारी हाफ सेंचुरी, अन्य सब्जियों के दाम भी आसमान परसब्जियों दाम आसमान पर।

लखनऊ। बढ़ती महंगाई का असर अब जेब पर ही नहीं, स्वाद पर भी दिखने लगा है। जनता रसोई गैस की बढ़ती कीमतों से ते पहले से ही परेशान थी, ऐसे में सब्जियों के दाम ने पूरा बजट बिगाड़ दिया है।

मौसमी फल हो या सब्जियां, इनके दाम आसमान छू रहे हैं। सब्जियों के दाम आने वाले समय में और भी बढ़ने की आशंका है। जिन सब्जियों के मूल्यों में खासी बढ़त हुई है, उनमें प्याज से लेकर पालक, टमाटर, बैगन, भिंडी, परवल आदि शामिल हैं। सब्जियों के दाम लगातार बढ़ रहे हैं और वे मध्यम और निम्न वर्ग की पहुंच से बाहर होने लगी हैं।

राजधानी लखनऊ समेत प्रदेशभर के बाजारों में सब्जियों के दाम आसमान छू रहे हैं। औने-पौने दामों में किसानों द्वारा बेची गई प्याज आज 40 से 50 रुपए प्रति किलो के भाव में बिक रही है। वहीं टमाटर, 50 से 70 रुपए किलो, लौकी 40 से 50, बैंगन 40 रुपए किलो बिक रहा है।

ये भी पढ़ें- बारिश ने सब्जियों के दाम में लगाया महंगाई का तड़का

गोमती नगर, विनय खंड चार के एक महेश बताते हैं कि दाम आवक और मौसम पर बहुत निर्भर करते हैं। उन्होंने बताया कि सब्जियों के दाम अभी और बढ़ सकते हैं। हरी मिर्च, टमाटर, परवल बड़े शहरों से आते हैं। इन दिनों वहां से सब्जियों की आवक कम है, इसलिए मूल्य बढ़े हैं। मूल्य अभी और भी बढ़ने की आशंका है। हरी मिर्च 80 से 100 रुपए किलो तक बिक रहा है।

मौसमी सब्जी भी सस्ती नहीं

इस बार मौसमी सब्जी के मूल्यों में भी किसी प्रकार की गिरावट नहीं देखी गई। गोभी, भिन्डी जैसी सब्जियों के भाव कम नहीं है जबकि अन्य मौसम में आने वाली सब्जियों के भाव भी कम नही है। गोभी खुदरा में 30 से 40 रुपए प्रति फूल बिक रहा है।

दुकानों से गायब हुआ प्याज

मुंबई में प्याज के भाव आसमान पर है। एशिया की सबसे बड़ी नासिक मंडी में प्याज के दाम 3200 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गए हैं। इससे पहले वह 4040 क्विंटल तक बिका। प्याज के इस दाम के चलते खुदरा बाजार में मुंबई में प्याज 40 से 50 रुपए किलो तक बिक रहा है। यही हाल देश के दूसरे बड़े शहरों का है। कई दुकानों से तो प्याज गायब ही हो गया है। हैदराबाद में प्याज 50 रुपए किलो बिक रहा है। चंडीगढ़ में थोक में बिक रहे प्याज की कीमत 44 रुपए प्रति किलो हो चुकी है। जबकि लखनऊ में प्याज 40 से 50 रुपए प्रति किलो बिक रहा है।

ये भी पढ़ें- चीन के किसान ने छत पर किया तरबूज का बंपर उत्पादन, धान और सब्जियों की भी होती है अच्छी पैदावार

प्याज पर स्टॉक सीमा बढ़ाई

पिछले दिनों प्याज की बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के ध्येय से सरकार ने प्याज पर स्टॉक सीमा की अवधि दिसंबर तक बढ़ा दी है। खाद्य एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने कहा कि प्याज की जमाखोरी रोकने के लिए स्टॉक रखने की तयशुदा सीमा को 31 अक्तूबर 2017 से बढ़ाकर 31 दिसंबर 2017 किया गया है।

ये भी पढ़ें- सब्जियों की खेती के लिए पा सकते हैं 20 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर तक अनुदान

Share it
Top