हिमाचल प्रदेश में 80 प्रतिशत कम बारिश से किसान चिंतित, गेंहू की फसल पर असर संभव

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   27 Nov 2016 3:39 PM GMT

हिमाचल प्रदेश में 80 प्रतिशत कम बारिश से किसान चिंतित, गेंहू की फसल पर असर संभवहिमाचल में गेंहू की बुवाई हो चुकी है, लेकिन दो महीने से बारिश नहीं होने से किसान चिंतित हैं।

शिमला (आईएएनएस)| हिमाचल में रबी के मौसम में 80 प्रतिशत से ज्यादा गेंहू की बुवाई हो चुकी है, लेकिन लगभग दो महीने से बारिश नहीं होने और सूखे मौसम के कारण किसान चिंतित हैं। उन्हें फसल खराब होने की आशंका है। शिमला के मौसम ब्यूरो के अनुसार, एक अक्टूबर से लेकर 26 नवंबर तक हमीरपुर, कांगड़ा और उना जिले 100 प्रतिशत बारिश की कमी के कारण बुरी तरह से प्रभावित हैं।

मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि इस अवधि के दौरान 56.8 मिमी सामान्य बारिश के मुकाबले महज 5.3 मिमी बारिश हुई है, जो सामान्य बारिश से 91 प्रतिशत कम है।

सिंह ने कहा कि सूखे की स्थिति दो दिसंबर तक राज्य भर में जारी रहेगी। राज्य की 69 प्रतिशत आबादी कृषि पर निर्भर है।

राज्य कृषि विभाग ने कुल 16 लाख टन खाद्यान्न उत्पादन का लक्ष्य रखा है, जिसमें 6.96 लाख टन रबी की फसल शामिल है। जबकि पिछले साल कुल 12.38 लाख टन उत्पादन हुआ था, जिसमे 6.75 लाख टन खरीफ और 5.63 लाख टन रबी फसल की उपज शामिल थी।

सब्जी उत्पादन का लक्ष्य 14.80 लाख टन से बढ़कर 15 लाख टन और आलू का उत्पादन लक्ष्य 1.95 लाख टन से बढ़कर दो लाख टन कर दिया गया है।

मौसम ब्यूरो के मुताबिक, हिमाचल प्रदेश में दक्षिण पश्चिम मानसून में भी 26 प्रतिशत कमी दर्ज की गई। लगातार छठे साल हिमाचल में कम बारिश हुई है।



More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top