इस मौसम में टमाटर को कीट से बचाएं

इस मौसम में टमाटर को कीट से बचाएंइस समय टमाटर पर हो सकता है कीटों का प्रकोप।

अजय सिंह चौहान, स्वयं कम्युनिटी जर्नलिस्ट

लखनऊ। टमाटर की पौध रोपाई से लेकर फसल की कटाई तक बड़ी संख्या में कीटों और रोगों का प्रभाव ज्यादा बना रहता है। ऐसे में किसान ज्यादातरफसल को बचाने के लिए रासायनिक कीटनाशकों का इस्तेमाल कर रहे हैं जिससे फसल, मिट्टी और मानव स्वास्थ्य, तीनों को नुकसान है।

खेती किसानी से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

फसल में इस समय फल छेदक, माहू, सफेद मक्खी, पत्ती खनिक, बदबूदार कीटों का प्रकोप है। ये फसल की उपज को न केवल कम करते हैं बल्कि टमाटर पत्ती कर्ल वायरस जैसे संयंत्र रोगों को फैलने में मदद करते हैं। लखनऊ के जिला उद्यान अधिकारी डीके वर्मा बताते हैं, “25 दिन पुरानी टमाटर की पौध को 1:16 के अनुपात में पंक्तियों में एक साथ लगाएं। मादा प्रकाश जाल की मदद से वयस्क पतंगों को खत्म किया जा सकता है। साथ ही टमाटर की खेती करने वाले किसान भाई फसल में कीट लगने पर कीटनाशक रसायनिक दवाओं की जगह नीम की फली से बना नीम का पाउडर और साबुन का खेत के रकबे के अनुसार छिड़काव कर इस्तेमाल करें तो ज्यादा फायदेमंद होगा।”

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top